Covid-19 Update

1,99,252
मामले (हिमाचल)
1,92,229
मरीज ठीक हुए
3,395
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,469,183
मामले (दुनिया)
×

दस दिन बाद मिला मलबे में दबे पोकलेन ऑपरेटर का शव

दस दिन बाद मिला मलबे में दबे पोकलेन ऑपरेटर का शव

- Advertisement -

पुनीत शर्मा/चंबा। चंबा-चुवाड़ी वाया जोत मार्ग पर भटालवां माता मंदिर के पास हुए भूस्खलन ( Landslide)के चलते मलबे में दबे पोकलेन ऑपरेटर( Pokleen operator) रवि का शव 10 दिनों की मशक्कत के बाद मिल गया है। लोक निर्माण विभाग ( Public Works Department)की ओर से मलबे में दबे आपरेटर की तलाश का कार्य चला हुआ

यह भी पढ़ें :-बिग ब्रेकिंगः खाई में गिरी निजी संस्थान के प्रशिक्षुओं से भरी बस, 40 थे सवार

 


था इसी बीच शुक्रवार सुबह साढ़े नौ बजे मंडी जिला के तत्तापानी निवासी ऑपरेटर रवि ठाकुर का शव बरामद हो गया। पोस्टमार्टम के बाद ही खुलासा हो पाएगा कि आखिर रवि की मौत कब हुई। 16 मई को लाइफ डिटेक्टर ने धड़कन डिटेक्ट की तो क्या तब रवि जिन्दा था। अहम बात यह है कि जहां पर पोकलेन तथा रवि का शव( Deadbody) मिला एनडीआरएफ( NDRF)की टीम उससे बिलकुल दूसरी तरफ बचाव कार्य को अंजाम दे रही थी।

भटालवां माता मंदिर के पास 15 मई को भूस्खलन में ऑरपेटर रवि पोकलेन समेत दब गया था। हादसे में एक पिकअप ( Pick up) भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई जबकि चालक जख्मी हो गया था। ऑपरेटर रवि को खोजने में लोकनिर्माण विभाग की शुरुआत के बाद भटिंडा से एनडीआरएफ टीम के साथ भारतीय सेना भी जुटी। उधर मेटल डिटेक्टर तथा लाइफ डिटेक्टर की मदद से दिल की धड़कन के संकेत मिलने के बाद इस बचाव कार्य को तेज भी किया गया

तो वहीं परिजनों ने पूजा और तंत्र से रवि को खोजने की कोशिश की। वहीं अब कोई सुराग न मिलता देख गत रोज एनडीआरएफ टीम के लौटने के बाद लोकनिर्माण विभाग ही ऑपरेटर को खोजने में लगी हुई थी। चंबा सदर थाना से एसएचओ प्रशांत ठाकुर घटना की सूचना के बाद स्पॉट पर पहुंच गए। उधर मामले की पुष्टि करते हुए लोकनिर्माण विभाग चंबा के एक्स-इ-एन जीत ठाकुर ने कहा कि एनडीआरएफ के लौटने के बाद बुधवार से लोकनिर्माण विभाग दिन-रात तलाश में जुटा था। उन्होंने कहा कि शुक्रवार सुबह 9.30 बजे करीब 50 मीटर मलबा के दौरान पोकलेन तथा ऑपरेटर रवि ठाकुर का शव मिल गया।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है