×

पुलिस जवान Manoj को Death Threat पर पहले साइबर थाने में केस

पुलिस जवान Manoj को Death Threat पर पहले साइबर थाने में केस

- Advertisement -

 शिमला। देशभक्ति की कविता को लेकर हिमाचल पुलिस के हैड कांस्टेबल मनोज ठाकुर को सोशल मीडिया पर धमकी देने के मामले में प्रदेश पुलिस के पहले साइबर थाने में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस में हैड कांस्टेबल के पद पर तैनात मनोज ठाकुर की जुनूनी देशिभक्त की कविता कश्मीर तो होगा, पाकिस्तान नहीं होगा ने देश विरोधी ताकतों को हिलाकर रख दिया था। इसके बाद सोशल मीडिया पर पुलिस के इस जाबांज हैड कांस्टेबल को जान से मारने की धमकियां लगातार मिल रही थीं। सोशल मीडिया पर हैड कांस्टेबल को अक्तूबर से ही धमकियां मिलने लगी थीं। लगातार धमकियां मिलने के बाद पुलिस ने आखिर  साइबर पुलिस थाने में साइबर क्राइम का मामला दर्ज कर लिया।


  • सोशल मीडिया पर मिली रहीं धमकियों पर पुलिस ने उठाया कदम
  • फेसबुक का खंगाला जाएगा रिकार्ड

हिमाचल पुलिस के पहले साइबर थाने का उद्घाटन सीएम वीरभद्र सिंह 17 दिसबंर, 2016 को किया था। साइबर पुलिस स्टेशन का यह पहला मामला है। साइबर थाने से जुड़े सूत्रों के मुताबिक साइबर थाने में दर्ज हुए इस पहले  मामले की शुरुआत पूछताछ मनोज से ही की जाएगी। धमिकयां मिलने के दौरान हैड कांस्टेबल मनोज ठाकुर छठी आईआरबी बटालियन कोलर में तैनात थे। कुछ माह पहले शिमला पुलिस में उनका ट्रांसफर हुआ है। छठी आईआरबी बटालियन की कमाडेंट रानी बिंदु सचदेवा ने भी मनोज की सुरक्षा को लेकर उचित कदम उठाए थे। मनोज का वीडियो वायरल होने के बाद अचानक ही उर्दू व अंग्रेजी में इस्लामिक देशों से मनोज को जान से मारने की धमिकयां मिलने लगी थीं। इसमें एक ने मनोज ठाकुर की बेटी की तस्वीर को अपनी प्रोफाइल पिक्चर बनाकर परिवार की तरफ भी इशारा किया था। 

मनोज ठाकुर ने किन्नौर में तैनाती के दौरान कारगिल दिवस (26 जुलाई) पर यह वीडियो यूट्यूब पर अपलोड किया था, लेकिन उड़ी हमले के बाद यह वीडियो वायरल हुआ था। इस वीडियो को करोड़ों लोग तो देख चुके थे, लेकिन किसी को नहीं पता था कि अपनी दमदार आवाज से पाक की धरती हिलाने वाला व्यक्ति और कोई नहीं हिमाचल पुलिस का जाबांज जवान है। उधर, इस मामले में कानूनी राय लेने के बाद एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं, इस मामले में एसपी (साइबर क्राइम) संदीप धवल ने कहा कि हैड कांस्टेबल मनोज ठाकुर को सोशल मीडिया पर मिल रही धमकियों को लेकर साइबर थाने में मामला दर्ज किया गया है। इस संबंध में पुलिस ने फेसबुक से भी रिकॉर्ड मांगा है। पहले यह पता लगाया जाएगा कि धमकी देने वालों ने कहीं फर्जी अकाउंट का इस्तेमाल तो नहीं किया। यदि विदेश में रहकर कोई फेसबुक पर मनोज को धमकी दे रहा है तो प्रत्यापर्ण संधि के मुताबिक कार्रवाई की जा सकती है। इसके अलावा दूतावास के माध्यम से भी संवाद स्थापित होगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है