Covid-19 Update

57,189
मामले (हिमाचल)
55,796
मरीज ठीक हुए
960
मौत
10,655,435
मामले (भारत)
99,333,754
मामले (दुनिया)

Mandi : सब्जी विक्रेताओं और प्रशासन के बीच ठनी, बंद रखेंगे दुकानें

Mandi : सब्जी विक्रेताओं और प्रशासन के बीच ठनी, बंद रखेंगे दुकानें

- Advertisement -

मंडी। लॉकडाउन और कर्फ्यू के इस दौर में मंडी जिला प्रशासन के सामने एक और परेशानी खड़ी हो गई है। सब्जी मंडी (Vegetable market) के सब्जी विक्रेताओं और प्रशासन के बीच स्थान परिवर्तन को लेकर ठन गई है और सब्जी विक्रेताओं ने सब्जी की दुकानें बंद रखने का ऐलान कर दिया है। दरअसल जहां पर सब्जी मंडी है वहां पर रोजाना अधिक भीड़ हो रही थी जिसके चलते प्रशासन ने सब्जी मंडी को अस्थाई रूप से बाहर बदलने का निर्णय लिया था ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाया जा सके। आज सुबह प्रशासन ने सब्जी मंडी के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया और इसे पूरी तरह से बंद कर दिया।

इस सब्जी मंडी में दुकानें चला रहे सब्जी विक्रेता (Vegetable vendors) इस बात को लेकर मुखर हो गए। एसडीएम के साथ लंबी चर्चा के बाद भी जब कोई समाधान नहीं निकला तो फिर इन्होंने दुकानें बंद रखने का ही ऐलान कर दिया। परचून सब्जी विक्रेता यूनियन के प्रधान देश राज राणा ने बताया कि उन्होंने प्रशासन ने सब्जी मंडी में कम से कम 6 दुकानें सुचारू रखते हुए बाकी बाहर शिफ्ट करने का सुझाव दिया था। ऐसा सुझाव इसलिए दिया गया कि इनके पास सब्जी की अधिक वैरायटी होती है और इतने अधिक सामान को रोजाना बाहर ले जाना और वापिस लाना संभव नहीं लेकिन प्रशासन ने सब्जी विक्रेताओं की बात को सिरे से खारिज कर दिया जिसके कारण सब्जी मंडी के दुकानदारों ने अपनी दुकानों को बंद रखने का निर्णय लिया है।

वहीं, प्रशासन ने आज सेरी मंच पर सब्जियों की अस्थाई दुकानें लगाई और शहर के अन्य स्थानों पर भी रेहड़ियों को सुचारू करवा दिया ताकि लोगों को घर के नजदीक ही सब्जी मिले। एडीसी मंडी आशुतोष गर्ग ने बताया कि सब्जी मंडी में दुकानें लगाने नहीं दी जाएंगी क्योंकि वहां अधिक भीड़ इकट्ठी हो रही है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना और लोगों को सब्जियां मुहैया करवाना प्रशासन का कार्य है और इसे हर हाल में किया जाएगा। बता दें कि यह विवाद सिर्फ सब्जी मंडी की दुकानों को लेकर हुआ है जबकि शहर के अन्य स्थानों पर सब्जी की दुकानें लग रही हैं जहां लोग जरूरत के हिसाब से सब्जियां खरीद रहे हैं। उम्मीद की जा रही है कि यह विवाद जल्द सुलझ जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है