Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

गुड़िया रेप-मर्डर मामला : नीलू चिरानी की सजा पर बहस पूरी, इस दिन होगा फैसला

न्यायाधीश 18 जून को सुनाएंगे सजा, नीलू 28 अप्रैल को दिया था दोषी करार

गुड़िया रेप-मर्डर मामला : नीलू चिरानी की सजा पर बहस पूरी, इस दिन होगा फैसला

- Advertisement -

शिमला। कोटखाई में हुए गुड़िया रेप और मर्डर मामले (Gudiya Rape Murder Case) में दोषी करार दिए गए नीलू चिरानी की सजा पर मंगलवार को बहस पूरी हुई। आरोपी नीलू को मंगलवार को कोर्ट (Court) में पेश किया गया। जहां सीबीआई (CBI) के विशेष न्यायाधीश राजीव भारद्वाज की कोर्ट में दोषी की सज़ा को लेकर अभियोजन व बचाव पक्ष के वकीलों के बीच बहस हुई। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद न्यायाधीश राजीव भारद्वाज ने सज़ा सुनाने के लिए 18 जून की तिथि निधारित की है। बता दें कि इससे पहले आरोपी नीलू चिरानी (Neelu Chirani) की सजा पर होने वाली सुनवाई करीब पांच बार टलती रही है। इससे पहले विशेष अदालत में मंगलवार को दोषी को सज़ा सुनाई जानी थी, लेकिन अदालत ने नीलू की सजा पर सुनवाई मंगलवार को कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) के चलते 15 जून तक टाल दी थी। जिसके चलते यह सुनवाई आज 15 जून को हुई। जिसमें आरोपी की सजा पर बहस पूरी हुई। अब न्यायाधीश 18 जून को अपना फैसला सुनाएंगे। नीलू चिरानी कोकोर्ट ने 28 अप्रैल को इस मामले में दोषी करार दिया था।

यह भी पढ़ें: विवाहिता ने ससुरालियों पर लगाए दहेज उत्पीड़न के आरोप, फौजी पति भी करता है मारपीट

गौर हो कि 4 जुलाई, 2017 को शिमला जिले के कोटखाई (Kotkhai) की एक छात्रा स्कूल से लौटते समय लापता (Missing) हो गई थी। 6 जुलाई को कोटखाई के तांदी के जंगल में पीड़िता का शव (Dead Body) मिला। जांच में पाया गया कि छात्रा की दुष्कर्म (Rape) के बाद हत्या (Murder) कर दी गई थी।


यह भी पढ़ें: हिमाचल : बद्दी के उद्योग में ब्लास्ट के बाद लगी भीषण आग, चार मजदूर झुलसे

किशोरी के साथ दरिंदगी की इस वारदात के खिलाफ जबरदस्‍त जनाक्रोश देखने को मिला था। आक्रोशित लोगों की भीड़ ने कोटखाई थाने को आग के हवाले कर दिया था। प्रदेश हाईकोर्ट (Himachal Highcourt) ने मामले की सीबीआई जांच के सुपुर्द की थी। सीबीआई ने डीएनए परीक्षण के आधार पर अप्रैल 2018 में नीलू नामक चिरानी को गिरफ्तार किया था। जुलाई 2018 में सीबीआई ने नीलू के विरुद्ध कोर्ट में चालान पेश किया था।

यह भी पढ़ें: विद्युत कर्मी ने कमरे में और युवक ने बिजली के पोल से लगाया फंदा, दोनों की मौत

इस मामले में सीबीआई ने 55 गवाहों के बयान दर्ज किए। अदालत ने भारतीय दंड संहिता और बच्चों के यौन अपराध से संरक्षण कानून की विभिन्न धाराओं के तहत नीलू को दुष्कर्म और हत्या का दोषी करार दिया है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है