×

Defence Minister Rajnath Singh ने ऑनलाइन किया मनाली-लेह मार्ग पर बने तीन पुलों का लोकार्पण

बीआरओ द्वारा बनाए गए इन 44 में से 3 पुल हिमाचल में

Defence Minister Rajnath Singh ने ऑनलाइन किया मनाली-लेह मार्ग पर बने तीन पुलों का लोकार्पण

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारतीय सेना के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने देश की सरहदों से सटे सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 44 पुलों का ऑनलाइन उद्घाटन किया। बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन (Border Roads Organisation) यानी बीआरओ द्वारा बनाए गए इन 44 में से 3 पुल हिमाचल में है। प्रदेश के इन तीन पुलों का रणनीतिक महत्व हैं। इन पुलों के निर्माण से सुरक्षा बलों और हथियारों के शीघ्रता से पहुंचाने में मदद मिलेगी। 286 करोड़ रुपये की लागत से तैयार इन पुलों का निर्माण हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में किया गया है। इसके अलावा आज रक्षा मंत्री ने अरुणाचल प्रदेश में बनने जा रही नेचीफू टनल की भी आधारशिला रखी। बताते चलें कि इस दौरान हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर के अलावा, पंजाब, अरूणाचल प्रदेश, उत्तराखंड और सिक्किम के सीएम समेत जम्मू कश्मीर और‌‌ लद्दाख के उप-राज्यपाल भी मौजूद रहे। बीआरओ के महानिदेशक, लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह भी शामिल रहें।


यह भी पढ़ें: रक्षा मंत्री ने 736.18 लाख से बनने वाली Calibration Lab Building का किया शिलान्यास

 

इस अवसर परक्षा मंत्री ने कहा कि सीमावर्ती इलाकों में सड़कों, सुरंगों और पुलों का लगातार निर्माण, आप लोगों की प्रतिबद्धता और सरकार के remote areas में पहुंचने के प्रयास को दर्शाता है। ये सड़कें न केवल सामरिक जरूरतों के लिए होती हैं, बल्कि राष्ट्र के विकास में सभी की बराबर भागीदारी सुनिश्चित करती है। हाल ही में राष्ट्र को समर्पित अटल टनल, रोहतांग इसका जीता-जागता उदाहरण है। यह न केवल भारत, बल्कि विश्व के इतिहास में अद्भुत और अभूतपूर्व है। यह टनल हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा, और हिमाचल, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के जनजीवन की बेहतरी में एक नया अध्याय जोड़ेगा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की अवधि के दौरान भी, BRO ने उत्तर पूर्वी राज्यों, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेशों, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में निरंतर कार्य किया है। दूरदराज़ के स्थानों पर snow clearance में देरी न हो, यह सुनिश्चित करते हुए BRO ने अपना काम सदैव जारी रखा।

 

 

राजनाथ सिंह ने कहा कि इन पुलों में कई छोटे, तो कई बड़े पुल हैं, पर उनकी महत्ता का अंदाजा उनके आकार से नहीं लगाया जा सकता है। शिक्षा हो या स्वास्थ्य, व्यापार हो या खाद्य आपूर्ति, सेना की सामरिक आवश्यकता हो या अन्य विकास के काम, इन्हें पूरा करने में ऐसे पुलों और सड़कों की समान, और अहम भूमिका होती है। इनके पुलों निर्माण से, हमारे पश्चिमी, उत्तरी और north-east के दूर-दराज के इलाकों में, Military और Civil transport में बड़ी सुविधा मिलेगी। बता दें कि रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पहले 24 सितंबर को इन पुलों का उद्धाटन करने वाले थे, लेकिन रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी की मौत के मद्देनजर इस कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया था। इनमें से 10 पुल जम्मू-कश्मीर, 8 पुल केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख, 8 पुल उत्तराखंड, 8 पुल अरुणाचल प्रदेश, 4 पुल सिक्किम, 4 पुल पंजाब और 2 पुल हिमाचल प्रदेश में बनाए गए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है