- Advertisement -

इन दो तोपों से भारतीय सेना की ताकत में होगा बड़ा इजाफा

रात या दिन किसी भी समय पहाड़ और रेगिस्तान पर उगलेगा आग

0

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारतीय सेना की ताकत में इजाफा करने के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत शुक्रवार को दो तोपों एम-777 अल्ट्रालाइट होवित्जर तोप और K-9 वज्र को भारतीय सेना के हवाले करेंगे। 9 नवंबर को महाराष्ट्र के देवलाली में इन तोपों को आधिकारिक तौर पर सेना में शामिल किया जाएगा।

39 किमी दूर से करेगी दुश्मन का सफाया

K-9 वज्र को साउथ कोरिया की कंपनी हनवहा “टेक विन” ने मेक इन इंडिया के तहत तैयार किया है। अनुमान है कि 2020 तक लगभग 100 K-9 वज्र तोप भारतीय सेना के हवाले होंगी। K-9 वज्र तोप किसी भी समय 39 किमी तक दूर खड़े दुश्मन का खात्मा कर सकती है। यह तोप 3 सेकंड में तीन बार गोल दाग सकती है। यह तोप 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से चलती है और इसे रेगिस्तानी इलाकों में भी चलाया जा सकता है।

पाकिस्तान और चीन होंगे निशाने पर

भारतीय सेना में वर्ष 2021 तक लगभग 145 M-777 तोपें होंगी। 4.2 टन वजन की यह तोप 31 किमी तक एक मिनट में चार राउंड फायर कर सकती है। इसका गोला 45 किलो का है। इन तोपों को भारत-पाकिस्तान और चीन की सरहद पर रखा जाएगा। इन तोपों की खासियत यह रहेगी कि इनको रात या दिन में पहाड़ और रेगिस्तान हर जगह इस्तेमाल किया जा सकेगा।

- Advertisement -

Leave A Reply