Covid-19 Update

58,598
मामले (हिमाचल)
57,311
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,095,852
मामले (भारत)
114,171,879
मामले (दुनिया)

संधोल को सौगात, तो लडभड़ोल में भी जगी आस

संधोल को सौगात, तो लडभड़ोल में भी जगी आस

- Advertisement -

जोगिंद्रनगर। धर्मपुर के एसडीएम को दो दिन के लिए अब संधोल में बिठाए जाने की घोषणा शायद लडभड़ोल के काम भी आ जाए। गौर रहे कि प्रदेश के सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने शनिवार को अपने धर्मपुर हलके के दौरे के दौरान संधोल में ऐलान किया है कि धर्मपुर के एसडीएम अब सप्ताह में दो दिन के लिए संधोल में बैठा करेंगे। संधोल व इसके आसपास की पंचायतों के लिए यह बहुत बड़ी खुशखबरी है। क्योंकि जोगिंद्रनगर विधानसभा हलके में लडभड़ोल की तहसील भी धर्मपुर व संधोल के साथ सटी हुई है इसलिए लडभड़ोल तहसीलवासी भी मांग उठा सकते हैं कि जोगिंद्रनगर के एसडीएम भी सप्ताह में दो दिन के लिए लडभड़ोल में बैठें, ताकि वहां की जनता को अपने काम करवाने में सुविधा हो सके। वैसे भी हाल में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने अपने दृष्टिपत्र में घोषणा की है कि सरकार बनने पर लडभड़ोल में एसडीएम कार्यालय खोला जाएगा। इस घोषणा को लागू करने की मांग करना इस समय बहुत जल्दबाजी होगी, लेकिन महेंद्र सिंह ठाकुर द्वारा किया गया ऐलान लडभड़ोल में अपना असर दिखा जाए तो आश्चर्य नहीं होगा।

विधायक प्रकाश राणा पर रहेगा दबाव

विधायक प्रकाश राणा स्वयं लडभड़ोल तहसील के तहत गोलवां पंचायत के वासी हैं, इसलिए उन पर यह मांग उठाने का दबाव पड़ सकता है, क्योंकि उनकी जीत में सबसे अधिक भूमिका लडभड़ोल तहसील की रही है। लिहाजा लडभड़ोल के लोगों का हक भी बनता है। वैसे भी प्रकाश राणा निर्दलीय होते हुए भी बीजेपी को समर्थन देने का ऐलान कर चुके हैं और सरकार के कार्यक्रमों में उनकी उपस्थिति भी किसी से छिपी नहीं है। नेताओं से नजदीकियां जगजाहिर हैं। लडभड़ोल तहसील के तहत आती 15 पंचायतों के लोगों को एसडीएम संबंधी अपने काम करवाने के लिए जोगिंद्रनगर आना पड़ता है और कई बार तो एक काम के लिए कई-कई चक्कर काटने पड़ते हैं क्योंकि जरूरी नहीं कि प्रशासनिक अधिकारी उसी दिन उपलब्ध हो जाएं या फिर लोगों का काम एक ही दिन में हो जाए।

अकसर देखा गया है कि लडभड़ोल वासियों को कई बार शपथपत्र बनवाने भी जोगिंद्रनगर आना पड़ता है क्योंकि भड़ोल में कई बार तहसीलदार भी नहीं होते। और भी ऐसे ही अनेकों काम हैं, जिनके लिए बार-बार चक्कर लगाकर लोग थक जाते हैं। लडभड़ोल तहसील के लोग अब ‘अपना विधायक‘ होने का भी दम भरते हैं। दृष्टिपत्र में की गई लडभड़ोल में एसडीएम कार्यालय खोलने की घोषणा को सरकार कैसे लेती है यह उसे देखना है लेकिन आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर की घोषणा कमोबेश रंग अवश्य दिखा सकती है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है