×

विभाग ने बांटे Virus वाले पौधे, Bragta ने दिया धरना

विभाग ने बांटे Virus वाले पौधे, Bragta ने दिया धरना

- Advertisement -

शिमला। सेब के सूखे पौधे बांटे जाने से पूर्व बागवानी मंत्री नरेंद्र बरागटा भड़क गए हैं। मंगलवार को दर्जनों बागवानों ने विभाग के निदेशालय के बाहर धरना-प्रदर्शन किया और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए। बरागटा का आरोप है कि सरकार और विभाग ने बागवानों से धोखा किया है और उन्हें वायरस वाले सेब के पौधे बांट दिए हैं। यहीं नहीं उनमें से अधिकतर पौधे सूख चुके हैं।


  • शिमला में रैली निकाल सरकार के खिलाफ लगाए नारे
  • बागवानी विभाग के कार्यालय के बाहर जांच को उठाई आवाज

नरेंद्र बरागटा ने इटली से खरीदे गए वायरस वाले विदेशी पौधों को लेकर हाई पावर कमेटी से जांच की मांग की भी उठाई है। उन्होंने कहा कि 2 लाख 23 हज़ार पौधे आए हैं, जिसमें से 85 हज़ार पौधे सूख गए हैं और वह किसी काम के नहीं हैं। बरागटा ने कहा कि कांग्रेस सरकार गूंगी और बहरी हो चुकी है, जिसे लोगों की दिक्कतें दिखाई नहीं दे रही हैं। इसी के चलते पूर्व मंत्री ने बागवानी निदेशालय कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया।

इस दौरान नवबहार चौक से विभाग के कार्यालय तक एक किसान रैली का आयोजन किया गया, जिसका मकसद बागवानों के साथ हो रही धोखाधड़ी के खिलाफ विरोध करना था। बरागटा ने  आरोप लगाते हुए विभाग द्वारा किसानों को पिछले वर्ष बांटें गए सेब के पौधों में सरकार और अधिकारियों ने किसानों के साथ धोखा करते हुए वायरस वाले पौधे दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह मात्र आरोप ही नहीं बल्कि विभाग के पास प्राप्त आंकड़ों और लैब की रिपोर्ट के हिसाब से तथ्यों पर आधारित सच्चाई है। उन्होंने कहा कि जो पौधे सरकार ने लोगों में बांटें हैं उसमें से अधिकतर सूखे हैं, इससे जहां सरकार को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है, वहीं किसानों को भी भारी क्षति उठानी पड़ी है। बरागटा ने इस घटना और विदेशों से पौध आयात करने तथा बागवानों को खराब पौधे बांटने की जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि मात्र वर्ष 2016 में ही इसमें करीब 2 करोड़ 30 लाख रुपए का नुक्सान हुआ है और यह घोटालों का सिलसिला जारी है और इसमें लिप्त अधिकारियों को जांच करके तुरंत हटाया जाना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है