Covid-19 Update

2,00,791
मामले (हिमाचल)
1,95,055
मरीज ठीक हुए
3,437
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

निराशा : किसानों-बागवानों पर Notebandi की मार

निराशा : किसानों-बागवानों पर Notebandi की मार

- Advertisement -

सोलन। नोटबंदी के दौर में किसानों-बागवानों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। आलम यह है कि लोग फलदार पौधे लेने के लिए तो आ रहे हैं, लेकिन नकदी के अभाव में उन्हें निराश ही लौटना पड़ रहा है। गौर रहे कि डॉ यशंवत सिंह परमार बागवानी एवं वानिकी  विश्वविद्यालय नौणी के उद्यान एवं तकनीकी विभाग द्वारा प्रदेश के किसानों व बागवानों को विभिन्न प्रकार के 60,000 फलदार पौधे बांटे जा रहे हैं।

  • वाईएस परमार विश्वविद्यालय से निराश लौट रहे लोग
  • 60,000 फलदार पौधों का किया जा रहा है आवंटन
  • नकदी की समस्या से किसान-बागवान परेशान

पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर पौधों का आवंटन हो रहा है,  लेकिन यहां नकदी रहित व्यवस्था न होने के कारण किसानों व बागवानों के सामने नकदी की समस्या बनकर उभरी है। पौधारोपण का समय होने के कारण प्रदेश के विभिन्न जिलों से किसान व बागवान पौधों की खरीद के लिए विश्वविद्यालय पहुंच रहे हैं, लेकिन कई किसानों के पास नकदी न होने के कारण उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि विश्वविद्यालय प्रशासन ने नकदी रहित पेमेंट की अभी तक किसी प्रकार की व्यवस्था नहीं की है।


solanयही नहीं विभाग द्वारा किसानों द्वारा लाए गए चेक तक नहीं लिए जा रहे हैं। ऐसे में किसानों-बागवानों को दूर-दूर से आकर बैरंग लौटना पड़ रहा है। यही नहीं विभाग में जानकारी का अभाव भी लोगों को खासा परेशान कर रहा है, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से लोगों को पूछने पर भी पूरी जानकारी मुहैया नहीं करवाई जा रही है। सोलन के छोटे व मझोले कारोबारी तो नकदी रहित मशीनों को लेकर कार्य करने लगे हैं। परन्तु देश का नामी विश्वविद्यालय अभी तक नकदी रहित व्यवस्था को अपनाने में असमर्थ दिख रहा है। आश्वासन तो दे दिए जाते हैं। पौधों को वितरित करने से पहले क्या ये सारी जानकारी विश्वविद्यालय के प्रशासन को नहीं थी यदि होती तो किसान परेशान हो कर बैरंग न लौटते। प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए किसानों ने बताया कि वह यहां पर दूर-दूर से पौधे लेने आए हैं उन्हें यहां पर पहले से कोई जानकारी नहीं दी गई कि कितने पौधे मिलने हैं।

 उन्होंने कहा कि पूरा दिन कतार में खड़े होने के बाद सायं पौधे खत्म होने की दुहाई दी जाती है। उन्होंने कहा, कि किसानों के पास इन दिनों इतनी नकदी नहीं है तो  वे नकदी रहित व्यवस्था के विभिन्न तरीकों से पेमेंट करना चाहते थे, परन्तु इतने बड़े विश्वविद्यालय में इसकी कोई सुविधा नहीं है। नर्सरी इंचार्ज डॉ चन्देल ने बताया कि किसानों-बागवानों को विभिन्न तरह के पौधे सस्ते दामों पर वितरित किए जा रहे हैं। सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि नकदी रहित लेन-देन के लिए उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन को अवगत करवाया है व आशा है कि जल्द व्यवस्था की जाएगी। जब डायरेक्टर रिसर्च हार्टिकल्चर एंड फॉरेस्ट डॉ करतार सिंह वर्मा से नकदी की समस्या बारे बात की तो उन्होंने कहा कि हम नकदी रहित लेन-देन के लिए प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने भी माना कि इतनी नकदी किसानों के पास इन दिनों नहीं होगी। उन्होंने कहा कि किसानों को असुविधा न हो इसके लिए प्रयास किया जा रहा है। पहले बड़े सरकारी संस्थानों को नकदी रहित होना पड़ेगा तभी दूसरों से ये उम्मीद रखी जा सकती है। अब लोग कैशलेस होना भी चाहें तो क्या करें कार्यालयों में सुविधा ही नहीं है।

manohar-lalaआज नीमवाला Bridge की नींव रखेंगे CM Haryana

नाहन। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर आज नाहन चुनाव क्षेत्र के दौरे पर होंगे। cm हरियाणा, नाहन चुनाव क्षेत्र के नीमवाला में एक पुल का शिलान्यास करेंगे। इस पुल के बनने से हिमाचल व हरियाणा दोनों राज्य के लोगों को लाभ मिलेगा।

  • नाहन विधानसभा के एक दिवसीय दौरे पर रहेंगे खट्टर

नीमवाला खड्ड पर लंबे समय से पुल बनाने की मांग की जा रही थी। नाहन के बीजेपी विधायक डॉ राजीव बिंदल ने बताया कि इस पुल का सारा खर्चा हरियाणा सरकार वहन करेगी।  उन्होंने कहा, कि उनके आग्रह करने पर हरियाणा सरकार द्वारा यहां एक स्कूल का निर्माण किया जा रहा है । बिंदल ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान यहां से भारी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता समारोह स्थल जाएंगे। कार्यक्रम दोपहर करीब 12:30 बजे शुरू होगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है