×

कुल्लूः अधिकारियों को मांगनी पड़ी माफी, जुर्माना भी भरा

कुल्लूः अधिकारियों को मांगनी पड़ी माफी, जुर्माना भी भरा

- Advertisement -

कुल्लू। ऊंची घाटी के हलाणा 2 क्षेत्र के देवता नाग धूमल के ढालपुर स्थित अस्थाई शिविर स्थल को अशुद्ध करने पर प्रशासनिक अधिकारियों को माफी मांगनी पड़ी। साथ ही देवता नाग धूमल ने अधिकारियों को जुर्माना भी लगाया। देवता नाग धूमल के ढालपुर स्थित अस्थाई शिविर की जगह प्रशासन ने ढाबा संचालित करने को दी थी। इससे देवता नाग धूमल के हरियाणों का तक है कि यह जगह अशुद्ध हो गई है। ऐसी स्थिति में देवता यहां नहीं रूक सकते हैं। देवता नाग धूमल के अस्थाई शिविर को हमेशा ही शुद्ध रखा जाना चाहिए।


बता दें कि अपने अस्थाई शिविर के अशुद्ध होने पर देवता नाग धूमल अपने लाव लश्कर के साथ धार्मिक नगरी सुल्तापुर भगवान रघुनाथ मंदिर से मुख्य छड़ीबरदार महेश्वर सिंह, कारदार दानवेंद्र सिंह को लेकर पहले एसपी ऑफिस पहुंचे। जहां से डीएसपी प्रियांक गुप्ता को अपने साथ लेकर डीसी कार्यालय पहुंचे। जहां पर एसी टू डीसी एसपी जसवाल को अपने अस्थाई शिविर में लेकर गए। जहां देवता के अस्थाई स्थल पर देऊली हुई, जिसमें देवता ने महेश्वर सिंह व दानवेंद्र सिंह सहित प्रशासन के सभी अधिकारियों को देव स्थल अशुद्व होने पर दंडित किया। देवता नाग धूमल ने गुरु के माध्यम से देव स्थल अशुद्व होने पर देव आदेश दिए कि देव परंपराओं के साथ छेड़छाड़ ना हो और देवी देवताओं का मान सम्मान बना रहे, नहीं तो धरती पर तबाही होगी।

भगवान रघुनाथ के शिविर में सभी प्रशासनिक अधिकारियों के साथ देवता के कार्य को लेकर बैठक हुई। इसमें भगवान रघुनाथ के मुख्य चार महेश्वर सिंह ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों को देव स्थल पर अशुद्धि ना हो इसके लिए पुख्ता प्रबंध व्यवस्था करने की मांग की। उन्होंने कहा कि प्लांट आवंटित करने वाले कर्मचारियों को ध्यान रखना चाहिए। इस बैठक में प्रशासनिक अधिकारियों ने देवता से माफी मांगी और देवता के द्वारा दंडित करने पर जुर्माना भरने की हामी भरी और इसके बाद सभी प्रशासनिक अधिकारियों ने आपस में चर्चा की और देवता को जुर्माने के तौर देवता को राशि भेंट की।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है