Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

धेनुम आश्रय सदनम ट्रस्ट खोलेगा गौ सदन, सरकार से मांगी जमीन

धेनुम आश्रय सदनम ट्रस्ट खोलेगा गौ सदन, सरकार से मांगी जमीन

- Advertisement -

कांगड़ा। धेनुम आश्रय सदनम ट्रस्ट की बैठक आज कांगड़ा में ट्रस्ट के अध्यक्ष बाल कृष्ण धीमान की अध्यक्षता में हुई। बैठक में ट्रस्ट के संस्थापक अजय सहगल ने विशेष रूप से शिरकत की। बैठक में ट्रस्ट के तकरीबन 85 सदस्यों ने भाग लिया। बैठक में भविष में क्रियान्वित की जाने वाली योजनाओं बारे ट्रस्ट के सदस्यों से विचार-विमर्श किया गया। साथ ही पिछले 6 माह में की गई ट्रस्ट की गतिविधियों बारे सदस्यों को अवगत करवाया गया। ट्रस्ट के संस्थापक अजय सहगल व अध्यक्ष बाल कृष्ण धीमान ने बताया कि अगले 6 माह में धेनुम आश्रय सदनम ट्रस्ट कांगड़ा अथवा आस पास के क्षेत्र में एक बड़े स्तर का गौ सदन खोलने के लिए प्रयासरत है, जिसके लिए स्थानीय प्रशासन के माध्यम से सरकार से भूमि उपलब्ध करवाए जाने का आग्रह किया गया है।

यह भी पढ़ें: कांगड़ा में खुलेंगी तीन बड़ी गौशालाएं, सरकार को भेजा प्रस्ताव

ट्रस्ट के संस्थापक अजय सहगल ने बताया कि उन्होंने प्रशासन को यह भी लिखित तौर पर आश्वासन दिया है, सरकार केवल भूमि उपलब्ध करवाने तक सहयोग करे, उसके उपरान्त इस गौ सदन का निर्माण व बेसहारा गाऊओं के भरन पोषण इत्यादि का खर्चा ट्रस्ट द्वारा उठाया जाएगा।



उन्होंने बताया कि जनवरी माह में ट्रस्ट द्वारा शव वाहन भी जनता को समर्पित किया जाएगा, जिसके लिए वाहन की खरीद कर ली गई है। उन्होंने कहा की मंगलवार व गुरुवार को मेडिकल कॉलेज टांडा में ट्रस्ट द्वारा सांयकालीन लंगर लगाया जा रहा है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है