Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

Dhumal का आरोप : कांग्रेस सरकार में गुंडा तत्वों के हौंसले हुए बुलंद

Dhumal का आरोप : कांग्रेस सरकार में गुंडा तत्वों के हौंसले हुए बुलंद

- Advertisement -

Dhumal : शिमला। हाल ही में हुई फॉरेस्ट गार्ड की हत्या पर पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने सरकार पर वन माफिया को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।  धूमल ने कहा कि कांग्रेस सरकार में गुंडा तत्वों के हौंसले इस कद्र बुलंद हो चुके हैं कि जंगल कटान रोकने पर एक फॉरेस्ट गार्ड की निर्मम हत्या कर दी। साथ ही बर्बता की सभी सीमाओं को लांघते हुए उसे निर्वस्त्र कर पेड़ पर उल्टा लटका दिया। 

इससे बड़ा शर्मनाक कांड देवभूमि हिमाचल के लिए और नहीं हो सकता। अभी शिमला में घटे युग प्रकरण को लोग पूरी तरह से भूले भी नहीं थे कि यह एक और दिल दहला देने वाली घटना घटित हो गई। धूमल ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि बीजेपी द्वारा चलाया गया आंदोलन (माफिया राज हटाओ, प्रदेष बचाओ) की सार्थकता इस घटना से सिद्ध होती है।


Dhumal :कांग्रेस सरकार ने शिकायतकर्ताओं को भेजा जेल

धूमल ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने जंगल कटान करने वालों के खिलाफ नहीं बल्कि उल्टे शिकायतकर्ताओं के खिलाफ मामले दर्ज किए और उन्हें जेल भेज दिया तथा वन काटुओं को क्लीन चिट दे दी गई। वहीं जिला ऊना के हरोली क्षेत्र में वन अधिकारियों द्वारा वन काटुओं पर कार्रवाई होती इससे पहले अधिकारियों की पिटाई कर दी, मोबाइल फोन छीन लिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आए दिन हर कोने से एेसी खबरे आती हैं लेकिन सरकार की ओर से किसी भी केस में कोई कार्रवाई नहीं की जाती।

नशे के कारोबार के लिए सरकारी गाड़ियों का हो रहा इस्तेमाल

पूर्व सीएम ने कहा कि खनन माफिया और रेत माफिया प्रदेश में इतना हावी हो चुका है कि उन्होंने कुछ कार्रवाई करने वाले इमानदार अफसरों पर जानलेवा हमले तक कर दिए।

इस सब के बावजूद प्रदेश सरकार का संरक्षण उनको इस हद तक प्राप्त था कि इमानदारी का सबूत देने वाले अफसरों को इनाम देने के बजाए उनका ही तबादला कर दिया गया। प्रदेश में व्याप्त वन माफिया, खनन माफिया, रेत माफिया, ट्रांस्फर माफिया, शराब व ड्रग माफिया के हौंसले इतने बढ़ चुके हैं कि कार्रवाई करने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों की अब जान तक भी सुरक्षित नहीं है। ड्रग माफिया के हौंसले तो इतने बुलंद हो चुके हैं कि नशे के कारोबार के लिए सरकारी गाड़ियों का भी बेझिझक इस्तेमाल किया जाने लगा है।

नाइजीरिया जैसे देशों ने भी ड्रग्स के लिए हिमाचल को सुरक्षित शरणस्थली मान लिया है। धूमल ने कहा कि पुलिस का यह हाल है कि प्रदेश में ISIS के आतंकवादी आराम से अपने दिन देवभूमि में गुजारते हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती है। सहारनपुर के दंगाई हिमाचल में आकर शरण लेते हैं और हिमाचल पुलिस राजनीतिक तानोबानों में उलझी रहती है।

यह भी पढ़ें : Sukhu बोले, कर्ज माफी के बजाय किसानों पर गोलियां दाग रही BJP

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है