Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

Dhumal @ NH: अगर उजाड़ना ही था तो बनाया क्यों

Dhumal @ NH:  अगर उजाड़ना ही था तो बनाया क्यों

- Advertisement -

Dhumal :हमीरपुर। नेशनल हाइवे विभाग की कार्यप्रणाली से नेता विपक्ष प्रेम कुमार धूमल नाखुश है। यही नहीं लाखों रुपए खर्च कर लगाए गए डंगे नालियों और विंग वॉल पर भी उन्होंने सवाल ख़ड़े किए हैं। नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि हमीरपुर शहर में आजकल वाइडनिंग का काम चल रहा है। इस हाइवे पर अभी कुछ समय पहले ही लाखों रुपए के डंगे और नालियां बनाई गई थी।

Dhumal :हमीरपुर में नेशनल हाइवे विभाग की कार्यप्रणाली से खफा नेता विपक्ष, जांच मांगी

उन्होंने कहा कि  हम जानना चाहते हैं कि, इसकी जांच हो कि जब पता था की हाइवे की वाइडनिंग होनी है, इस हाइवे को चौड़ा किया जाना है, और कुछ महीने के बाद नए लगाए जा रहे डंगों और नालियों को डिमोलिश करना पड़ेगा, तो इस पैसे की बर्बादी के लिए कोन जिम्मेदार है?  किसको इसका लाभ दिया गया है? कहीं राजनीतिक लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए तो नहीं इस तरह के काम अवार्ड किए गए।


धूमल ने कहा कि देश का एक-एक पैसा विकास कार्यों पर खर्च किया जाना चाहिए। यह भी एक तरह का भ्रष्टाचार है। उन्होंने कहा की इसी प्रकार से जो बाईपास बना है, उसमें कई तीखे मोड़ इस तरह से बने हैं जिस पर कई दुर्घटनाएं होती हैं, कई लोग इन दुर्घटनाओं में अपनी जान गंवा चुके हैं| अगर वहां पर ठीक तरीके से भूमि अधिग्रहण किया जाता तो बड़े आराम से बढ़िया सीधी सड़क बन सकती थी और दुर्घटनाओं की संभावना को कम किया जा सकता था। इसकी भी जांच होनी चाहिए।

केंद्र की योजनाओं को लागू करने से डर रही वीरभद्र सरकार

हमीरपुर। केंद्र की योजनाओं को प्रदेश सरकार इसलिए लागू नहीं कर रही है कि कहीं इसका श्रेय पीएम नरेंद्र मोदी न ले जाएं। नेता विपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने वीरभद्र सिंह सरकार पर एक के बाद एक कई आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार केंद्र द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही आर्थिक सहायता व अनुदानों का सही ढंग से उपयोग नहीं कर रही है। केंद्र द्वारा दी गई आर्थिक सहायता को अनुपयोगी कार्यों में खर्च किया जा रहा है, जिससे विकास की गति थम गई है। कई केंद्रीय योजनाओं को प्रदेश में केवल इसलिए लागू नहीं किया जा रहा है ताकि श्रेय मोदी सरकार को न मिल सके।

धूमल ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना व प्रधानमंत्री सिंचाई योजना प्रदेश के किसानों और बागवानों के लिए वरदान साबित हो सकती है। सरकार के लापरवाही भरे रवैये से प्रदेश के किसान व बागवान इसका फायदा नहीं उठा पा रहे हैं। मात्र डेढ़ व दो प्रतिशत के प्रीमियम पर फसलों के बीमे के प्रति किसानों को जागरूक न करके प्रदेश सरकार प्रदेश की 88 प्रतिशत आबादी के प्रति अपराध कर रही है। इसी तरह हर खेत को पानी पहुंचाने की दृष्टि से महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के तहत भी डीपीआर केंद्र सरकार को नहीं भेजी जा रही है।

जयराम@ Virbhadra की बातों को गंभीरता से न लें, अगला CM BJP का होगा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है