Covid-19 Update

3,12, 160
मामले (हिमाचल)
3, 07, 776
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,575,473
मामले (भारत)
620,895,664
मामले (दुनिया)

फीस मांगने वाले Private School पर होगी सख्त कार्रवाई, जारी की अंतिम चेतावनी

फीस मांगने वाले Private School पर होगी सख्त कार्रवाई, जारी की अंतिम चेतावनी

- Advertisement -

शिमला। कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान फीस मांगने वाले निजी स्कूलों (Private School) के खिलाफ महामारी रोग और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। फीस (Fees) वसूली की लगातार मिल रही शिकायतों पर उच्च शिक्षा निदेशालय (Directorate of higher education) ने निजी स्कूलों को आखिरी चेतावनी जारी कर दी है। शनिवार को जारी पत्र में उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने स्पष्ट किया कि आगामी आदेशों तक प्रदेश में अभिभावकों से फीस वसूली पर रोक लगाई गई है। ऐसे में निजी स्कूल प्रबंधन सरकार को कड़ी कार्रवाई के लिए बाध्य न करे। रोक के बावजूद फीस वसूली के मैसेज भेजने वाले स्कूल निजी शिक्षण संस्थान नियामक एक्ट 1997 का उल्लंघन न करें।

यह भी पढ़ें: Una जिला में क्या खुलेगा-क्या रहेगा बंद, कोटा से कब पहुंचेंगे 43 छात्र-जानिए

प्रदेश सरकार ने निजी स्कूलों पर शिकंजा कसते हुए बीते दिनों आगामी आदेशों तक फीस वसूली पर पूर्ण रोक लगाई है। निदेशालय ने निजी स्कूलों को पत्र जारी कर देश और प्रदेश में हालात सामान्य न होने तक फीस वसूली पर रोक लगाई है। इसके बावजूद कुछ निजी स्कूल अभिभावकों को एसएमएस (SMS) भेजकर फीस जमा करवाने को कह रहे हैं। सोशल मीडिया (Social Media) सहित फोन के माध्यम से कई अभिभावकों ने निजी स्कूलों की इस कार्य प्रणाली की शिक्षा मंत्री से शिकायत की है। जिस पर कड़ा संज्ञान लेते हुए निदेशालय ने शनिवार को पत्र जारी कर आगामी आदेशों तक फीस ना वसूलने के आदेश जारी करते हुए निजी स्कूलों को अंतिम चेतावनी भी दी है।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है