×

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस: Himachal में महिलाओं को किया सम्मानित, जिला स्तर पर हुए कार्यक्रम

महिलाओं के सम्मान में रिज पर भव्य कार्यक्रम महिलाओं ने दिखाए करतब

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस: Himachal में महिलाओं को किया सम्मानित, जिला स्तर पर हुए कार्यक्रम

- Advertisement -

शिमला। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस आज धूमधाम से मनाया जा रहा है। महिलाओं के सम्मान में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) पर देश भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। वहीं, हिमाचल (Himachal) में भी सरकारी और गैर सरकारी स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। हिमाचल पुलिस ने शिमला (Shimla) के रिज में महिलाओं के सम्मान में विशेष कार्यक्रम आयोजित किया। जिसमें महिलाओं ने परेड, बाइक स्टंट और कराटे जैसे करतब दिखाए। इस मौके पर राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय मुख्यातिथि के रूप में पहुंचे। इस दौरान पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने कहा कि महिलाएं पुलिस में 2300 से ज्यादा हैं और कंधे से कंधा मिलाकर अपनी सेवाएं दे रही है। महिलाओं की इन सेवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए शिमला के रिज पर कार्यक्रम किया जा रहा है।


यह भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर DGP ने खोली व्यवस्थाओं की पोल, क्या बोले- जाने

महिला दिवस पर ऊना में महिलाओं की गोद भराई

ऊना। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर सोमवार को जिला मुख्यालय के हिमोत्कर्ष कन्या कॉलेज में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती (Satpal singh satti) ने बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में शिरकत की। इस अवसर पर कार्यक्रम में पहुंची आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देकर सबका मन मोहा। वहीं कार्यक्रम में गर्भवती महिलाओं की गोद भराई और छोटे बच्चों का अन्नप्राशन भी करवाया गया। इस मौके पर महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान देने वाली महिलाओं को विशेष रूप से सम्मानित किया गया। इस दौरान वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की महिला को बधाई दी और कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए काम करने का आह्वान किया।

हमीरपुर में महिलाओं के लिए आयोजित कीं प्रतियोगिताएं

 

हमीरपुर। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हमीरपुर (Hamirpur) के टाउन हाल में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें बतौर मुख्यातिथि डीसी हमीरपुर देवश्वेता बनिक ने शिरकत की। इस अवसर पर जिला की नौ महिलाओं को विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के दौरान महिलाओं के लिए रस्सी कस्सी, म्यूजिकल चेयर, जलेबी रेस, मटका फोड प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया जिसमें महिलाओं ने बढ़चढ़ कर भाग लिया। डीसी देवश्वेता बनिक ने महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा कि कार्यक्रम (Program) के दौरान कोविड के दौरान अच्छी सेवाएं देने के साथ साथ खेलए शिक्षा, या अन्य जगहों पर बेहतर काम करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया है। उन्होंने कहा कि आज के समय में कोई भी मुकाम हासिल करना कठिन नहीं है।

रीना कश्यप बोलीं: एक समय में लड़की के जन्म पर मनाया जाता था शोक

 

नाहन। महिलाएं शिक्षा, स्वास्थ्य, राजनीति, खेलकूद व प्रशासन सहित हर क्षेत्र में अहम भूमिका निभा रही है और पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर समाज को विकसित करने में अपना योगदान दे रही है। यह वाक्य आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर नाहन (Nahan) के चौगान मैदान में विधायिका पच्छाद रीना कश्यप ने बतौर मुख्यातिथि दो दिवसीय जिला स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए व्यक्त किए। रीना कश्यप ने सभी को महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि एक समय ऐसा भी था जब लड़कियों के पैदा होने पर परिवार में शोक मनाया जाता था और महिलाओं का कई प्रकार से शोषण किया जाता था। मगर अब समाज में परिर्वतन शुरू हो चुका है। आज लड़कियां लड़कांे के मुकाबले हर क्षेत्र में आगे हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस समारोह में दिखी कुल्लू की समृद्ध संस्कृति की

 

कुल्लू। डीसी डॉ. ऋचा वर्मा ने कहा कि कुल्लू के परिधान बहुत विशेष हैं और इन्हें देश-दुनिया तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। वह सोमवार को कुल्लू के ऐतिहासिक लाल चंद प्रार्थी कला केन्द्र में आयोजित जिला स्तरीय अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर संबोधित कर रही थी। उन्होंने जिला की समस्त महिलाओं को महिला दिवस की बधाई व शुभकामनाएं भी दी। डॉ. ऋचा वर्मा ने कहा कि जिला में लगभग हर घर में हाथों से बेहतरीन किस्म के ऊनी परिधानों को तैयार किया जाता है। इनमें शॉल, टोपी, दोहडू, व पट्टु विशेष रूप बनाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि पट्टु का पहरावा महिलाओं में प्रचलित है और यह परिधान बहुत खूबसूरत होने के साथ-साथ सर्दी और गर्मी से महिलाओं का बचाव करता है। यह काफी मंहगा परिधान है। उन्होंने कहा कि इतनी उच्च क्वालिटि के वस्त्रों का जिला से बाहर प्रचार नहीं हो पाया है। स्वर्णिम हिमाचल समारोहों की कड़ी में इसके लिए क्राफ्ट मेलों का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला में लाखों की संख्या में हर साल देसी व विदेशी सैलानी आते हैं और यहां के परिधानों को सुंदर ढंग से प्रदर्शित करके देश व दुनिया में पापुलर बनाया जाएगा।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है