Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,123,619
मामले (भारत)
114,991,089
मामले (दुनिया)

Bali की सलाह, Unemployment allowances पर राजनीति न करे विपक्ष

Bali की सलाह, Unemployment allowances पर राजनीति न करे विपक्ष

- Advertisement -

 शिमला। परिवहन मंत्री जीएस बाली ने विपक्ष को बेरोजगारी भत्ते पर राजनीति न करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि सरकार की नीयत और नीति दोनों साफ है, इसलिए सरकार ने बजट में न केवल बेरोजगारी भत्ते की घोषणा की, बल्कि इसके लिए 150 करोड़ रुपए का प्रावधान भी किया। उन्होंने बेरोजगारी भत्ते पर सरकार का यह कहते हुए बचाव किया कि कांग्रेस पार्टी के घोषणा पत्र में जमा दो पास और उससे अधिक शैक्षणिक वाले उम्मीदवारों को ही बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया गया है।

  • बोले, भत्ते की घोषणा से विपक्ष चित, मूर्छित अवस्था में 

यही नहीं घोषणापत्र में बेरोजगारी भत्ता देने की अधिकतम आय भी 2 लाख तय कर रखी है। उन्होने दावा किया कि सरकार के बेरोजगारी भत्ते की घोषणा से विपक्ष चित हो गया है और अब वह मूर्छित अवस्था में है। उन्होंने कहा कि बेरोजगार बीजेपी को वहीं बिठाएंगे, जहां हैं और हमें यहीं बिठाएंगे।

3 माह में हमीरपुर, ऊना और धर्मशाला में बस अड्डे चालू

बजट चर्चा में हिस्सा लेते हुए जीएस बाली ने अगले तीन माह में हमीरपुर, ऊना और धर्मशाला में बस अड्डों को बस अड्डों को चालू कर दिए जाने की घोषणा भी की। उन्होंने अपने विभागों की उपलब्धियां भी गिनाई और कहा कि प्रदेश में निजी क्षेत्र में अधिकांश आईटीआई और इंजीनियरिंग संस्थान बीजेपी के शासनकाल में खुले और कांग्रेस सरकार ने इन्हें केवल सशक्त करने का प्रयास किया। उन्होने प्रदेश में नए संस्थान खोलने का विरोध करने पर विपक्ष को घेरा और पूछा कि वह जनता में जाकर इसका विरोध करेंगे।

बाली ने केंद्र द्वारा प्रदेश को आटे का कोटा बंद करने का श्रेय भी बीजेपी लेने की सलाह दी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि बीजेपी ने अपनी सरकार के वक्त केंद्रीय योजनाओं का नाम बदलकर अपने नाम पर रखा। इस मुद्दे पर बाली और धूमल पर हलकी तकरार भी हुई और दोनों ने एक दूसरे पर छोटा दिल होने का आरोप लगाया। 

धूमल और नड्डा की राजनीति है

जीएस बाली ने कहा कि बिलासपुर में हाईड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज के लिए जमीन विभाग के नाम हो गई है, लेकिन शिलान्यास नहीं किया जा रहा। उनका कहना था कि बिलासपुर में एम्स का भी शिलान्यास नहीं किया जा रहा है। उन्होंने धूमल की ओर इशारा करते हुए कहा कि यह उनकी और नड्डा की राजनीति है और वे केवल यही कह सकते हैं कि शिलान्यास जल्द किया जाए।उन्होंने एमएलए फंड को बढ़ाने पर बीजेपी सदस्यों से ताली बजाने को कहा। बाली ने कहा कि राज्य में संसाधन जुटाने को सत्तापक्ष और विपक्ष को आमराय बनानी चाहिए। सदन के भीतर ऐसा प्रस्ताव लाया जाए और उस पर सदन फैसला करे कि क्या करना है और कैसे संसाधन बढ़ाने हैं। उन्होंने कहा कि कहां पर टैक्स लगाया जाना चाहिए और कहां पर नहीं लगाना है, इसे लेकर भी बात होनी चाहिए। उनका कहना था कि सीएम संसाधन बढ़ाने को लेकर कृत संकल्प हैं और सरकार संसाधन बढ़ाएगी। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है