×

लॉकडाउन के दौरान बोरियत से बचने के लिए करें ये काम

लॉकडाउन के दौरान बोरियत से बचने के लिए करें ये काम

- Advertisement -

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इन दिन देश भर में लॉकडाउन(lockdown) कर दिया गया है। इस बीमारी से बचने का एक मात्र रास्ता है कि सोशल डिस्टेंसिंग(Social Distancing) बनाई जाए। छोटे-बड़े सभी घरों में हैं। बहुत जरूरी काम होने पर ही बाहर निकला जा सकता हैं। जाहिर सी बात है कि लोग घरों में बोर भी हो रहे हैं।लेकिन अगर आप इस बीमारी से जंग जीतना चाहते हैं तो सतर्कता बरतना बहुत जरूरी है। घर बड़ा हो या छोटा सभी इन दिनों बोर तो हो रहे होंगे। आप की इस बोरियत को दूर करने के लिए हम आप को कुछ ऐसे काम बता रहे हैं जिससे आप का बोरियत कुछ कम होगी और आप को घर पर रहना अखरेगा भी नहीं….


किताबें हमारी सबसे अच्छी दोस्त होती है। मोबाइल के जमाने में बहुत कम लोग हैं जो किताबें पढ़ते हैं। अगर आप को किताब पढ़ने का शौक होता हैं। ऐसे में आप किताब पढ़ सकते हैं। आप बच्चों को भी किताबें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

वैसे तो लूडो बहुत पुराना खेल हैं। लेकिन लॉक डाउन के समय में लूडो आपके लिए एक अच्छा खेल बन सकता हैं। आप के घर के किसी कोने में लूडो या कैरम बोर्ड रखा हुआ मिल जाएगा, तो देर किस बात की घर में उसे खोजिए और हो जाएं शुरू।

घर में बच्चे हैं तो आप बच्चों के साथ इंडोर बॉलिंग खेल सकते हैं। इंडोर बॉलिंग के लिए 10 खाली बोटल और प्लास्टिक गेंद लें। इसके दूर खड़े होकर निशाना लगाएं और बच्चों के इस गेम्स अपनी बोरियत को ठीक करें।

लॉक डाउन के समय में बोर होने से अच्छा है कि आप अपने बच्चों को शतरंज का खेल सिखा सकते है। शतरंज का खेल बच्चों के विकास के लिए भी बहुत फायदेमंद होता हैं। ऑन लाइन शतरंज के नियम देख अपने बच्चों को शतरंज की चाल खेलना सीखा सकते हैं।

लॉक डाउन के समय आप अपने परिवार के साथ कोई अच्छी फिल्म देख सकते हैं। पूरे परिवार के साथ कोई अच्छी फिल्म देखने का समय इससे अच्छा नहीं हो सकता हैं। कोरोना वायरस से डरने की बजाए अपने परिवार के साथ फिल्म देखकर माहौल को थोड़ा हल्का कर सकते हैं। वहीं बच्चों को साथ आप कार्टून फिल्म भी देख सकते हैं।

इन दिनों मां दुर्गा के नवरात्र चल रहे हैं। ऐसे में इस समय मां दूर्गा की पूजा करें। जो लोग काम की वजह से नवरात्र का व्रत नहीं रख पाते थे, उन लोगों के लिये इस बार का नवरात्र बहुत ही खास है। ऐसे में नवरात्र का व्रत रख पूजा पाठ से अपने बोरियत को दूर कर सकते हैं।

अगर आप कामकाजी महिला हैं और ऑफिस की भागदौड़ में आप को घर का सामान सहेजने का समय नहीं मिल पाता है तो यही समय है। बच्चो को भी अपने साथ लें । घर की साफ सफाई के साथ सामान भी व्यवस्थित कर लें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है