Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बना रहा था ये डॉक्टर, इंदौर में पकड़ा गया

हिमाचल में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बना रहा था ये डॉक्टर, इंदौर में पकड़ा गया

- Advertisement -

कोरोना के संकट के दौर में कालाबाजारी ( Black marketing) का बाजार भी गर्म है। कई लोग नकली दवाएं बना कर अपनी जेबें गर्म कर रहे हैं। हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन( Fake Remadecivir Injection)बनाने का मामला सामने आया है। मध्यप्रदेश के इंदौर स्थित क्राइम ब्रांच( Crime Branch) ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के आरोप में डॉ. विनय त्रिपाठी को गिरफ्तार किया था। जब डॉक्टर से पूछताछ की तो पता चला कि वह हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के सूरजपुर में टयूलिप फॉर्मूलेशन प्राइवेट लिमिटेड ( Tulip Formulations Pvt Ltd) नामक कंपनी का संचालन करता था और यहां पर नकली इंजेक्शन बनाए जाते थे।

यह भी पढ़ें :-  हिमाचल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की चोरी का बड़ा मामला-अस्पताल स्टाफ पर शक

हिमाचल प्रदेश में डॉक्टर की कंपनी का कामकाज उनका मैनेजर पिंटू कुमार देखता था। जब पुलिस की पूछताछ की तो पता चला कि कंपनी में पेंटाजोल टेबलेट बनाई जाती हैं। डॉ. त्रिपाठी ने मैनेजर पिंटू के माध्यम से धर्मशाला के एडिशनल ड्रग कंट्रोलर के समक्ष रेमडेसिविर बनाने के लिए आवेदन पेश किया था, लेकिन एडिशनल ड्रग कंट्रोलर ने इसकी अनुमति प्रदान नहीं दी थी। लेकिन कंपनी में अवैध तरीके से इंजेक्शन बनाए जाते थे। इस पूरे मामले में एडिशनल ड्रग कंट्रोलर धर्मशाला की ओर से भी कार्रवाई हो रही है, और इस मामले में कुछ लोगों की गिरफ्तारी भी हो सकती है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है