Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

इस सीमा से ज्यादा न रखें घर में कैश वरना आएगी बड़ी आफत, जानें वजह

इस सीमा से ज्यादा न रखें घर में कैश वरना आएगी बड़ी आफत, जानें वजह

- Advertisement -

नई दिल्ली। अगर आप बार-बार बैंक (Bank) जाने के बजाय अपने घर में ही कैश रखना बेहतर समझते हैं तो आप आफत मोल ले रहे हैं। चुनाव आयोग (Election comission of India) की सलाह पर केंद्र सरकार घर में कैश की सीमा तय करने वाली है। कालेधन (Black Money) को लेकर एसआईटी के चेयरमैन ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर 3 लाख रुपए से ज्यादा के नकद लेन-देन और घर में 15 लाख से ज्यादा कैश (Cash) रखने पर रोक लगाने को कहा है। इस सीमा से ज्यादा कैश का मिलना आफत की वजह बन सकता है।

केन्द्र सरकार जल्द ही कैश को लेकर नया आदेश देने जा रही है। जिससे घर पर एक निश्चित सीमा के बाद कैश रखने वालों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप घर पर रखे कैश को बैंक में जमा कर दें और डिजिटल ट्रांजेक्शन (Digital Transaction) का उपयोग करें।


यह भी पढ़ें: जंग से इस वजह से भागा पाक: अब 10 दिनों में नहीं पाएगा दवाएं

लोकसभा चुनाव से पहले होगा ऐलान

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग सजग है। चुनाव के दौरान बड़ी मात्रा में कैश का लेन-देन होता है। लिहाजा अब चुनाव आयोग की सिफारिश पर केन्द्र सरकार आगामी लोकसभा चुनाव के लिए बड़ा फैसला करने जा रही है। इस फैसले के बाद घर में एक तय सीमा से ज्यादा कैश रखना या फिर लेन-देन करना गैरकानूनी माना जाएगा।

यह भी पढ़ें: बिग ब्रेकिंग: पाकिस्तान को अब पाई-पाई के लिए मोहताज कर देगा भारत

कालेधन पर एसआईटी ने यह कहा

कालेधन पर बनी एसआईटी के चेयरमैन ने वित्त मंत्रालय को चिट्ठी लिखी है कि आगामी लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) से पहले नए नियम बनाकर कर चुनावों में प्रयोग होने वाले धन पर रोक लगाई जाए। वहीं चुनाव आयोग भी चुनाव में कैश को लेकर कई तरह के फैसले कर चुका है। जिसका असर पिछले कुछ चुनावों में बड़े स्तर पर देखने को मिला है। वहीं एसआईटी ने तीन लाख से ज्यादा नकद लेन देन पर पाबंदी लगाने की सिफारिश की है। वहीं 15 लाख से ज्यादा नकद रखने पर पाबंदी लगाने को कहा है।

 

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है