Expand

हमारे सब्र को कमजोरी समझने की गलती न करे भारत

हमारे सब्र को कमजोरी समझने की गलती न करे भारत

- Advertisement -

इस्लामाबाद। भिम्बर सेक्टर में रविवार को 7 पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने के बाद नवाज शरीफ ने कहा है कि उनका देश भारत की चालों के सामने झुकने वाला नहीं है। नवाज ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा कि पाकिस्तान के सब्र को उसकी कमजोरी समझने की गलतफहमी न पाली जाए। पाकिस्तान के अखबार ‘द ट्रिब्यून’ ने नवाज का बयान प्रकाशित किया है। पाकिस्तान हालात से निपटने के काबिल है।

  • रिपोर्ट के मुताबिक, एलओसी पर जारी तनाव के बीच शरीफ ने मंगलवार को हाईलेवल सिक्युरिटी मीटिंग की।

इसी मीटिंग में नवाज ने कहा- अगर जंग जैसे हालात बनाने की कोशिश की गई तो पाकिस्तान अपनी रक्षा करने और हालात से निपटने की काबिलियत रखता है।  नवाज ने फौज को भारत की फायरिंग का पूरी ताकत से जवाब देने को भी कहा है। नवाज ने सात पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने पर दुख जताया।

  • nawaz-2पाकिस्तानी पीएम ने कहा- क्षेत्र में अमन और सुरक्षा को भारत खतरे में डाल रहा है। नवाज ने कहा- भारत कश्मीर की जनता के खिलाफ क्रूरता से दुनिया का ध्यान भटकाने के लिए एलओसी पर तनाव पैदा कर रहा है। नवाज ने कहा, “हमारी फौज ने अब तक फायरिंग शुरू नहीं की लेकिन उनकी फायरिंग का हम पूरी मुस्तैदी से जवाब दे रहे हैं।”

वहीं, नवाज के विदेश सलाहकार सरताज अजीज ने ने कहा, “भारत की फायरिंग में अब तक 26 पाकिस्तानी मारे गए हैं। 107 जख्मी हुए। ये 2003 के सीजफायर करार और इंटरनेशनल लॉ का उल्लंघन है।” मीटिंग में अमेरिका पर भी चर्चा हुई। नवाज शरीफ को बताया गया कि डोनाल्ड ट्रम्प की जीत के बाद उनका पाकिस्तान के प्रति नजरिया कैसा रह सकता है। इस मीटिंग में पाकिस्तान के नएसए नसीर खान जंजुआ भी शामिल थे।

पीओके में 29 सितंबर को सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पाक अब तक (47 दिनों में) 290 बार सीजफायर का उल्लंघन कर चुका है। पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी पर फायरिंग की आड़ में आतंकियों के लिए 5 लॉन्चिंग पैड (कैम्प) बनाए हैं।

इसमें 3 एलओसी के और दो आईबी के पास बनाए गए हैं। ये कैम्प पाकिस्तानी सेना और रेंजरों की मदद से बनाए गए हैं।  कुछ कैंम्पों पर आतंकियों की हलचल देखी गई है, बाकी कैम्प अभी खाली हैं। इस बात की जानकारी रक्षा और गृह मंत्रालय को दे दी गई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है