Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,726,507
मामले (भारत)
199,611,794
मामले (दुनिया)
×

डॉ. राजेशः चुनाव मैं नहीं, हम लड़ेंगे, यही सोच लेकर चलें

डॉ. राजेशः चुनाव मैं नहीं, हम लड़ेंगे, यही सोच लेकर चलें

- Advertisement -

Dr. rajesh sharma meeting : कांगड़ा। श्री बालाजी अस्पताल कांगडा के एमडी डॉ. राजेश शर्मा ने कहा है कि अब चुनावों के लिए ज्यादा वक्त नहीं रह गया है,आप यह कह सकते हैं कि विधानसभा चुनाव का काउंट-डाउन शुरू हो चुका है। इसलिए अब हम सबको कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र से स्वयं को उम्मीदवार समझते हुए घरों से बाहर निकल आना होगा। उन्होंने कहा कि मैं इस बात को स्पष्ट करना चाहता हूं कि चुनाव में आधिकारिक तौर पर नाम तो मेरा ही होगा पर हमें यहां यह मानकर चलना होगा कि चुनाव मैं नहीं बल्कि हम सब लड़ेंगे। जब हम इस बात को सोचकर घर से बाहर आएंगे तो तय है कि लक्ष्य ज्यादा दूर नहीं रहेगा।

  • मैं उम्मीदवार किसका हूं,आपका,आप कौन हैं, उम्मीदवार, यही होगा ध्येय
  • हमें रोजाना एक से दो घंटे लक्ष्य हासिल करने के लिए निकालने होंगे
  • बात होगी मजबूत कांगड़ा की, बात होगी डॉ. राजेश यानी अपने बारे में
  • रानीताल में हुई बैठक, क्षेत्रवासियों ने भी रखे खुलकर अपने-अपने विचार

इसलिए आज से हम सब जो यहां इक्टठे हुए हैं इस बात को मानकर यहां से अपने-अपने घर जाएंगे कि चुनाव डॉ. राजेश नहीं बल्कि हम सब लड़ेंगे। डॉ. राजेश कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र के रानीताल में एक बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मैं उम्मीदवार किसका हूं,आपका,आप कौन हैं,उम्मीदवार,यही हमारा ध्येय होगा। क्योंकि हम जिस लक्ष्य की तरफ बढ़ रहे हैं, वह हमें नजर आ रहा है, दिख रहा है, क्योंकि आईना भी तो आप ही हैं। अगर आज आपके दम पर हम इस मुकाम तक पहुंच सकते हैं कि एक आवाज भर लगाने से अपने सारे कामकाज छोड़कर यहां इक्टठे बैठ सकते हैं तो मान लीजिए की हम किसी भी लक्ष्य को बहुत ही आसानी से पा भी सकते हैं।


यह भी पढें : Dr Rajesh Sharma बोले, नशे से दूर रखने में सहायक खेलें

डॉ. राजेश ने कहा कि मेरा मकसद क्या है, मेरा मकसद आप हैं। आप से यहां मतलब कुछ और नहीं बल्कि कांगड़ा से है। अगर हमारा कांगड़ा आगे बढ़ेगा तो हम अपने आप ही आगे की तरफ बढ़ते दिखेंगे। इसलिए हमने शुरू से एक ही नारा दिया है नेक नीयत मजबूत इरादे। हम इस नारे को ही आगे लेकर बढ़ेंगे। इस नारे के पीछे छिपे अर्थ को ही हमने अपना मकसद बनाना है, इसलिए हमें इसी डगर पर आगे बढ़ते जाना है। डॉ. राजेश ने कहा कि हमें रोजाना एक से दो घंटे मात्र अपने लिए निकालने होंगे, ताकि हम अपने लक्ष्य की तरफ ज्यादा मजबूती से बढ़ सके। इन दो घंटों के दौरान हम अपने आसपास रहने वाले या अपनी जान-पहचान वालों से अपने बारे में बात करेंगे। बात होगी मजबूत कांगड़ा की,बात होगी डॉ. राजेश यानी आपके अपने बारे में। क्योंकि जब तक हम खुद अपने बारे में किसी से बात नहीं करेंगे, दूसरा तब तक नहीं करेगा। इसलिए हमें आज इस बात को गांठ में बांध लेना है कि अपनी बात करनी ही करनी है। यही बात हवा बनकर कांगड़ा की राजनीतिक आंधी बन जाएगी। इस अवसर पर बैठक में पहुंचे क्षेत्रवासियों ने भी खुलकर अपने-अपने विचार रखे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है