×

त्रिलोकनाथ में होगा #Cafeteria और पार्किंग का निर्माण, शिक्षकों के युक्तिकरण पर क्या बोले Markandeya-जाने

डॉ. रामलाल मार्कंडेय ने विश्राम गृह उदयपुर में जन समस्याएं सुनी

त्रिलोकनाथ में होगा #Cafeteria और पार्किंग का निर्माण, शिक्षकों के युक्तिकरण पर क्या बोले Markandeya-जाने

- Advertisement -

केलांग। जिला के एतिहासिक तीर्थ स्थल त्रिलोकनाथ (Triloknath) में टनल खुलने के बाद श्रद्धालुओं की खासी भीड़ जमा हो रही है। यह मंदिर बौद्ध एवं हिन्दू आस्था का केंद्र है। यहां श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए तथा धार्मिक पर्यटन को विकसित करने के उद्देश्य से एक पार्किंग तथा कैफेटेरिया (Cafeteria) का निर्माण किया जाएगा। यह बात मंगलवार को त्रिलोकनाथ का दौरा करने पहुंचे तकनीकी शिक्षा, जनजातीय विकास व जनशिकायत निवारण मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय ( Dr Ramlal Markandeya ) ने कही। डॉ. रामलाल मार्कंडेय ने इससे पहले विश्राम गृह उदयपुर में जन समस्याएं सुनी और उनका मौके पर ही निपटारा किया। इसके बाद उन्होंने त्रिलोकनाथ का दौरा किया।


यह भी पढ़ें: राहतः आठ दिन बाद मनाली-केलांग सड़क मार्ग बहाल, कल से दौड़ेगी HRTC बस

तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ रामलाल मार्कंडेय ने मंगलवार को उदयपुर पंचायत के लोबर गांव में पांच लाख की लागत से निर्मित महिला मंडल भवन व 11 लाख की लागत से निर्मित प्राथमिक पाठशाला भवन लोबर का लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा की विकास हमारी पहली प्राथमिकता है तथा क्षेत्र में विकास कार्यों में किसी भी प्रकार से धन की कमी को आड़े नहीं आने दिया जाएगा। लाहुल (Lahaul) में शिक्षण संस्थानों (educational institutions) तक पहुंचने के लिए सर्दियों में बच्चों को पैदल चलना पड़ता है। अतः स्कूलों में अध्यापकों (Teachers) का युक्तिकरण किया जाना बिल्कुल सही है, ताकि जिन स्कूलों में आवश्यकता है वहां स्टाफ को भेजा जाए, इससे जहां पर आवश्यकता से अधिक अध्यापक हैं उनका सही समायोजन हो सकेगा।

 

 

अटल टनल लाहुल-स्पीति के लोगों के लिए वरदान

उन्होंने कहा कि अटल टनल रोहतांग (Atal Tunnel Rohtang) लाहुल-स्पीति (Lahaul Spiti) के लोगों के लिए तो वरदान है ही इसके साथ देश-विदेश के लोगों को भी लाहुल की नैसर्गिक वादियों, यहां की कला संस्कृति व रहन सहन तथा यहां की प्राकृतिक परिवेश को देखने का सौभाग्य मिलेगा। यहां पर अभी पर्यटन (Tourist) सुविधाओं के लिए बहुत कुछ कार्य किए जाने की आवश्यकता है, जिसमें कि कुछ कार्य आरंभ किये गए हैं। इस अवसर पर उप- निदेशक उच्च शिक्षा सुरजीत राव, अधिषासी अभियंता बीएस नेगी, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। कोविड -19 को देखते हुए यह कार्यक्रम सीमित लोगों व अधिकारियों की उपस्थिति तथा सामाजिक दूरी के नियम की ध्यान में रखते हुए संपन्न हुआ।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है