×

किसानों की भूमि को बर्बाद कर रहा चताड़ा कॉलोनी का गंदा पानी

किसानों की भूमि को बर्बाद कर रहा चताड़ा कॉलोनी का गंदा पानी

- Advertisement -

ऊना। शहरों के विकास के नाम पर कंकरीट के जंगल अपना विस्तार तो कर रहे है लेकिन इस जंगल के निर्माता अपने दायित्व से मुंह भी मोड़ रहे हैं। कुछ ऐसा ही सामने आया है ऊना के गांव चताड़ा में। यहां पर कॉलोनी बनाने वालों की गलती का खामियाज़ा आस पास रहने वाले किसानों को भुगतना पड़ रहा है।


यह भी पढ़ेंः हिंसा की शिकार महिलाओं के लिए ऊना में खुला शेल्टर होम

मामला यह है किऊना में चताड़ा कॉलोनी ( Chatara colony of Una) से निकलने वाला गंदा पानी आसपास के लोगों के खेतों में घुस रहा है, जिसकी वजह से खेती तो खराब हो ही रही है, वहीं पशुधन का भी नुक्सान हो रहा है। वहीं इस क्षेत्र में बीमारियों का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। कॉलोनी के साथ लगती भूमि के मालिकों ने कॉलोनी प्रबंधक, पंचायत और प्रदूषण विभाग में भी कई दफा शिकायत की लेकिन नतीजा शून्य ही रहा। स्थानीय लोगों की माने तो जब कालोनी का निर्माण हुआ था तो प्रबंधकों ने कालोनी के गंदे पानी को साफ करके छोड़े जाने की बात कही थी। इसलिए उन्हें अपने खेतों को साफ़ पानी मिलने की उम्मीद जगी थी।कॉलोनी के घरों से निकलने वाले गंदे पानी के लिए टैंक भी बनाया गया और उसमें ट्रीटमेंट प्लांट भी लगाया गया। लेकिन स्थानीय लोगों की माने तो यह प्लांट आज तक चला ही नहीं और सारी कालोनी का गंदा पानी अब उनकी जमीनों में खड़ा हो रहा है। जिससे उनकी भूमि तो खराब हो ही रही है वहीं तालाब बनी भूमि में मक्खी मच्छरों के साथ-साथ जहरीले जीव भी पांव पसारने लगे है। स्थानीय लोगों की माने तो इस गंदे पानी को पीने से दो जंगली गाय की मौत भी हो गई। स्थानीय लोगों ने प्रशासन से समस्या से निजात दिलाने की गुहार लगाई है। डीसी ऊना राकेश कुमार प्रजापतिने एसडीएम को मामले में हस्तक्षेप कर ग्रामीणों को समस्या से निजात दिलाने के निर्देश दे दिए है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है