Covid-19 Update

59,118
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,229,271
मामले (भारत)
117,446,648
मामले (दुनिया)

सावधान! ज्यादा चाय पीने से हो सकती है हड्डियों की ये बीमारी

सावधान! ज्यादा चाय पीने से हो सकती है हड्डियों की ये बीमारी

- Advertisement -

अधिकांश लोगों के दिन की शुरूआत चाय के कप से होती है। कुछ ऐसे भी हैं जिनको जब तक चाय न मिले उनका काम करने का मूड ही नहीं बनता। काम के बीच में भी चाय की तलब लगती है और वे अपने आप को रोक नहीं पाते। क्या आप जानते हैं कि यही तलब कभी-कभी बीमारी का कारण बन सकती है।

दरअसल खाली पेट चाय पीना और लंबे समय तक रोज कई कप चाय के पीने की ये आदत स्केलेटल फ्लोरोसिस जैसी बीमारी की वजह ही बन सकती है। यह बीमारी आपकी हड्डियों को अंदर से खोखला बना सकती है।स्केलेटल फ्लोरोसिस में शरीर में आर्थराइटिस जैसा दर्द होने लगता है। इससे हड्डियों में दर्द होता है और कमर, हाथ-पैरों के अलावा जोड़ों में भी दर्द की शिकायत होती है।

दर असल चाय में मौजूद फ्लोराइड मिनरल हड्डियों के लिए बड़ा खतरा होता है। फ्लोराइड की बहुत ज्यादा मात्रा हड्डियों में स्केलेटल फ्लोरोसिस होने की आशंका बढ़ा सकती है। इसका कारण ये भी है कि चाय कैल्शियम के सोखने को शरीर में रोकता है। वहीं, ये अल्सर और हाइपर एसिडिटी का कारण भी बनता है। चाय से हड्डियों को नुकसान अचानक नहीं बल्कि लंबे समय बाद नजर आता है। दूध और चीनी से बनी चाय का लगातार पीते रहना सही नहीं है। खासकर तब जब आप इसे भूख मिटाने के लिए, खाली पेट या खाने के तुरंत बाद पी रहें हों।

इन बातों को दें ध्यान

– दिन में तीन कप से ज्यादा चाय बिलकुल न पीएं। खासकर खाली पेट तो बिलकुल नहीं।

– कोशिश करें कि सामान्य चाय की जगह ग्रीन टी, हर्बल टी आदि पीएं।

– खाने के तुरंत बाद या पहले और खाली पेट चाय पीने से बचें।

-चाय पीने के बाद कुल्ला करें और करीब आधे घंटे बाद ढेर सारा पानी भी पीएं।

– चाय की जगह तलब लगने पर छाछ, नारियल पानी जैसी ड्रिंक पीने से ये आदत छूट सकती है।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है