×

#Mandi: 40 साल पुराने स्रोत से हो रही पीने के पानी की सप्लाई, लोगों में रोष

#Mandi: 40 साल पुराने स्रोत से हो रही पीने के पानी की सप्लाई, लोगों में रोष

- Advertisement -

सुंदरनगर। हिमाचल के जिला मंडी (#Mandi) के बल्ह उपमंडल की ग्राम पंचायत लुहाखर के गांव धार में सैकड़ों लोग प्रदूषित पानी पीने को मजबूर हैं। हैरानी की बात यह है कि इन प्रभावित ग्रामीणों के गांव से महज 500 मीटर दूर जल शक्ति विभाग एक बोरवेल भी करवा चुका है। इसमें पर्याप्त मात्रा में शुद्ध पेयजल निकलने के बावजूद गांववालों को पानी का कनेक्शन (Connection) नहीं दिया है। सूखे पानी के स्रोत के साथ लगते बरसाती नाले का पानी घरों को सप्लाई किया जा रहा है। इस समस्या से तंग आकर प्रभावित धार गांव के लोगों ने स्थानीय पंचायत प्रधान बंसीधर की अगुवाई में अपना रोष व विरोध विभाग के प्रति जताया है। गांववासियों का कहना है कि इस समय जहां से उन्हें विभाग पानी सप्लाई कर रहा है, वो पानी का स्रोत 40 वर्ष पुराना है। अब ये पानी का स्रोत लगभग पूरी तरह सूख चुका है, लेकिन विभाग बरसाती नाले का पानी टैंक में डालकर गांव वालों को पिला रहा है। ये नाला भी कुछ दिन में सूख जाएगा। इस पानी से गांव में बीमारी फैलने का खतरा भी पैदा हो गया है। ग्रामवासियों ने जल्द से जल्द समस्या का निवारण करने की गुहार लगाई है।


यह भी पढ़ें: #Cyber_Crime : उच्च शिक्षा निदेशक का Fake Facebook Account बनाकर शातिरों ने मांगे पैसे

ग्राम पंचायत लुहाखर के प्रधान बंसीधर ने कहा कि धार गांव के लोगों को जहां से आजकल पानी की आपूर्ति दी जा रही है वो स्रोत पूरी तरह से सूख चुका है। मौके पर नाले का पानी टैंक (Tank) में डाला गया है उसे गांववाले मजबूरी में पी रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले 5 से 10 दिन में ये नाले का पानी भी सूख जाएगा और गांव वालों के पास पानी का इसके अलावा और कोई साधन नहीं है। प्रभावित गांव निवासी हेम सिंह ने कहा कि मामले को लेकर सभी अधिकारियों से गुहार लगा लगा चुके हैं, लेकिन किसी ने भी गांववासियों की समस्या की तरफ ध्यान नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि मंत्री से भी हमने अपनी समस्या के बारे में बताया था। इसके उपरांत गांव के नजदीक एक बोरवेल किया गया था, लेकिन आज तक गांववासियों को बोरवेल से पानी का कनेक्शन नहीं दिया गया है। हेम सिंह ने जलशक्ति विभाग जल्द से जल्द गांव में पानी की पाइप बिछा कर समस्या का समाधान करने की गुहार लगाई है।जलशक्ति विभाग बग्गी डिवीजन के अधिशासी अभियंता हर्ष शर्मा (Executive Engineer Harsh Sharma) ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है। मौके पर संबंधित अधिकारी को भेजा जाएगा। अगर मौके पर पानी का बोरवेल और मोटर इतने समय से लगी हुई है तो जल्द ही मौके पर पाइप लाइन बिछा दी जाएगी।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखने के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है