×

शिमला में सूखे जैसे हालात, कूडे़ के ढेर ने भी बदतर की जिंदगी

शिमला में सूखे जैसे हालात, कूडे़ के ढेर ने भी बदतर की जिंदगी

- Advertisement -

पांचवें दिन मिल रहा पानी, सफाई व्यवस्था भी चरमराई

शिमला। प्रदेश की राजधानी के आजकल दिन ठीक नहीं चल रहे हैं। पहले तो पानी की परेशानी थी, लेकिन अब कचरे के ढेर भी मुंह चिढ़ाने लगे हैं। जी हां पानी तो पांच दिन बाद थोड़ा बहुत आ रहा हो, लेकिन गंदगी का आलम यह है कि बदबू से अब सांस लेना भी मुश्किल हो गया है। गौर रहे कि प्रदेश की राजधानी शिमला में इन दिनों पानी की जबरदस्त किल्लत है। यहां हालात सूखे जैसे बन गए हैं। ज़्यादातर इलाकों में नल सूखे पड़े हैं और लोगों को पानी पांच दिन में एक बार ही नसीब हो रहा है, ऐसे में अगर कहीं कोई कार्यक्रम या शादी ब्याह हो तो उनकी परेशानी तो फिर भगवान ही समझ सकता है। बहरहाल, शहर में आज छोटा शिमला, खलीनी, कसुम्पटी, लोअर खलीनी, झिझड़ी, राजभवन, ब्रॉकहोस्ट, वर्मा अपार्टमेंट, के साथ-साथ उपनगर संजौली और उपनगर ढली, टुटू, मेहली, केल्टी, न्यू शिमला, विकास नगर, चक्कर में भी पानी की सप्लाई नहीं आई है। बता दें कि आज आधे शिमला को पानी नहीं मिला है।  गौर रहे कि शिमला को रोज़ाना 45 से 48 एमएलडी पानी की ज़रूरत होती है, लेकिन आज मुश्किल से 22.95 एमएलडी पानी का ही जुगाड़ हो पा रहा है। आज सबसे बड़ी गिरी परियोजना से 8.81 एमएलडी ही मिल पाया है, वहीं दूसरी परियोजनाओं गुम्मा से 11.40 चुरठ, से 1.87, चेड़ से 0. 87 और कोटी ब्रांडी से 0. 50 एमएलडी पानी मिला है। उधर, लोगों की शिकायत है कि पानी के लिए लड़ाई झगड़े तक हो रहे हैं। महिलाओं का कहना है कि बच्चों के यूनिफॉर्म धोने तक के लिए पानी नहीं मिल रहा। बच्चे स्कूल जाने से मना कर रहे हैं।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है