Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

कालाअंब: दवा उद्योग में बिना Chemist बन रहे थे सैनिटाइजर, फ्रीज किया स्टॉक-सैंपल भी लिए

कालाअंब: दवा उद्योग में बिना Chemist बन रहे थे सैनिटाइजर, फ्रीज किया स्टॉक-सैंपल भी लिए

- Advertisement -

नाहन। औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब में ड्रग विभाग की टीम (Drug Department Team) ने एक दवा उद्योग में बन रहे सैनिटाइजर के निर्माण पर रोक लगा दी है। साथ ही टीम ने सैनिटाइजर का पूरा स्टॉक फ्रीज कर दिया है। इस उद्योग में स्वीकृत केमिस्ट की गैर मौजूदगी में ही सैनिटाइजर का निर्माण किया जा रहा था। लिहाजा, ड्रग विभाग ने इसको लेकर कार्रवाई अमल में लाई। जानकारी के अनुसार विभाग को शिकायत मिली थी कि कालाअंब के एक दवा उद्योग (Pharmaceutical industry) में बिना मुख्य केमिस्ट (Chemist) के ही सैनिटाइजर का निर्माण किया जा रहा है। शिकायत पर कार्रवाई करते हुए जिला सिरमौर दवा नियंत्रक की टीम ने कालाअंब के सैनवाला स्थित दवा उद्योग में दबिश दी।

यह भी पढ़ें: Cabinet: तीन साल का अनुबंध काल पूरा करने वाले कर्मी होंगे नियमित

इस दौरान टीम ने सैनिटाइजर की 9500 बोतल फ्रीज कर दी। साथ ही अगले आदेशों तक तैयार किए सैनिटाइजर बाजार में बिक्री के लिए नहीं जाएंगे। ना ही उद्योग में सैनिटाइजर (Sanitizer) का उत्पादन होगा। दवा निरीक्षक ललित कुमार ने सैनिटाइजर के 3 सैंपल (Sample) लेकर राज्य प्रयोगशाला के लिए भेज दिए हैं। राज्य प्रयोगशाला से रिपोर्ट आने के बाद ही तय होगा कि बिना मुख्य केमिस्ट के दवा उद्योग में जो सैनिटाइजर बने हैं। वह गुणवत्ता में कितने खरे उतरते हैं। यदि इन सैनिटाइजर के सैंपल फेल होते है, तो उद्योग पर कड़ी कार्रवाई हो सकती है।


यह भी पढ़ें: हमीरपुर: 16 हजार परिवार के 80 हजार लोगों की होगी Screening, फील्ड में उतारीं 64 मेडिकल टीमें

उधर, ड्रग इंस्पेक्टर ललित कुमार ने बताया कि विभाग को शिकायत मिली थी कि कालाअंब के सैनवाला में एक दवा उद्योग में मुख्य केमिस्ट के बिना ही सैनिटाइजर का निर्माण किया जा रहा है। इस पर दवा निरीक्षक ने जाकर उद्योग का निरीक्षण करने पर पाया कि उद्योग ने बिना मुख्य केमिस्ट के उत्पाद तैयार कर दिया था, जिसे की सैंपल लेकर फ्रीज कर दिया है। अगले आदेश तक दवा उद्योग में निर्माण भी बंद करवा दिया है। सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद ही उद्योग के खिलाफ अगली कार्रवाई की जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है