Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

#Himachal में संदेह के आधार पर नशा तस्करों को होगी तीन माह की जेल, प्रावधान की तैयारी

#Himachal में संदेह के आधार पर नशा तस्करों को होगी तीन माह की जेल, प्रावधान की तैयारी

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल सरकार नशा तस्करों को संदेह (Doubt) के आधार पर जेल भेजने का प्रावधान करने जा रही है। पंजाब की तर्ज पर हिमाचल (Himachal) में भी पिट एनडीपीएस यानी प्रीवेंशन ऑफ इलिशीट ट्रैफिक इन नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सबस्टांसिस का प्रावधान करने जा रही है। यह जानकारी डीजीपी संजय कुंडू (DGP Sanjay Kundu) ने आज मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान दी। इससे पहले उन्होंने मंडी (Mandi) रेंज के पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और अधिकारियों को और ज्यादा मुस्तैदी के साथ काम करने के निर्देश दिए।


यह भी पढ़ें: नशा तस्करों की संपत्ति होगी सीज, SSP कांगड़ा ने सूची बनाने के दिए निर्देश

 


 

संजय कुंडू ने बताया कि पंजाब ने पिट एनडीपीएस के तहत ऐसे लोगों को तीन महीनों तक जेल में बंद करने का प्रावधान कर दिया है जो नशा तस्करी के कारोबार में संलिप्त रहते हैं। यदि पुलिस को ऐसे किसी तस्कर पर नशा तस्करी का पहले से संदेह हो जाता है तो फिर उसे समय से पहले बीना किसी अपराध के संदेह के आधार पर गिरफ्तार किया जा सकता है। यह गिरफ्तारी (Arrest) तीन महीनों के लिए होगी और इसके लिए गृह सचिव की अध्यक्षता में रिटायर्ड जज की तीन सदस्यीय कमेटी (Committee) बनाई जाएगी। गिरफ्तारी से पहले संदेहास्पद व्यक्ति को इस कमेटी के समक्ष पेश किया जाएगा। ऐसा इसलिए किया जाएगा, ताकि जो बड़े नशा तस्कर हैं उनपर शिकंजा कसा जा सके। उन्होंने बताया कि नशा निवारण की राज्य स्तरीय बैठक में सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने इस प्रावधान को शामिल करने के निर्देश दे दिए हैं और इस पर गृह विभाग ने कार्य करना शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें: Solan में बोले DGP संजय कुंडू: पहली जनवरी से #Himachal के सभी थानों में लगेंगे ये रजिस्टर

 

हिमाचल में बनेंगी 100 रिपोर्टिंग पोस्टें

संजय कुंडू ने बताया कि हिमाचल प्रदेश आज देश का इकलौता ऐसा राज्य बन गया है जहां पासपोर्ट ( Passport) के लिए पुलिस वेरिफिकेशन (Police Verification)  मात्र 24 घंटों में हो रही है। इससे पहले यह प्रक्रिया 11 दिनों में पूरी होती थी। आंध्रा प्रदेश इस प्रक्रिया को 5 दिनों में पूरा करता था, लेकिन अब हिमाचल मात्र 24 घंटों में इस प्रक्रिया को पूरा कर रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 100 रिपोर्टिंग पोस्ट (Reporting post) बनाई जानी हैं जिनमें से कुछ ने काम करना शुरू कर दिया है जहां लोगों को अपनी शिकायतें दर्ज करवाने में मदद मिल रही है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है