Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

पहले Corona ने बढ़ाई किसानों की चिंता, अब बारिश बनने लगी खलनायक

पहले Corona ने बढ़ाई किसानों की चिंता, अब बारिश बनने लगी खलनायक

- Advertisement -

हमीरपुर। पहले कोरोना (Corona) ने किसानों को चिंता में डाले रखा और अब बदलता मौसम खलनायक बन गया है। जिला में पिछले दो दिन से हो रही बेमौसमी बारिश (Rain) की वजह से किसानों की परेशानी बढ़ गई है। बारिश की वजह से किसान गेहूं की फसल की कटाई नहीं कर पा रहे हैं। किसानों ने जैसे-तैसे गेहूं की फसल की थोड़ी बहुत कटाई की, लेकिन बारिश से किसानों की फसल पूर्ण रूप से भीग चुकी है। जिस कारण किसानों की चिंता बढ़ गई है। कुछ दिन पहले पीला रतुआ की मार झेल रहे किसानों की बेमौसमी बारिश ने कमर ही तोड़ दी है। जिला के कुछ एक जगहों में ओलावृष्टि भी हुई है, जिससे आडू, आम, नींबू व सरसों की फसल को भी भारी नुकसान पहुंचा है। जिला के सुजानपुर, बडसर, भोरंज, नादौन व हमीरपुर में बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई है।


यह भी पढ़ें: बाहरी राज्यों से लौटने वाले हिमाचली आज भी जुटे, Kandwal Barrier पर लगी कतारें

किसानों की माने तो इस बार गेहूं (Wheat) की फसल की अच्छी पैदावार होने की उम्मीद थी, लेकिन ज्यादा बारिश होने से फसल पूर्ण रूप से बर्बाद हो चुकी है। फसल की कटाई भी बारिश की बजह से नहीं हो पाई है। बारिश के साथ ओलावृष्टि होने से फसल काफी हद तक खराब हो गई, लेकिन उसके बाद भी बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही है। ग्रामीण महिला सत्या देवी, नीलम, ज्योति और किसान जोगिंद्र सिंह ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि बारिश और ओलावृष्टि से उनकी फसल पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है। उन्होंने प्रदेश सरकार से गुहार लगाई है कि बर्बाद हुई गेहूं की फसल का उन्हें मुआवजा प्रदान किया जाए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है