Expand

यह क्या कह गए धूमल, परिवहन विभाग के बड़े अधिकारी…

यह क्या कह गए धूमल, परिवहन विभाग के बड़े अधिकारी…

- Advertisement -

हमीरपुर। एक तरफ कालेधन के खिलाफ देश लामबंद हो रहा है। वहीं, हिमाचल में कुछ ऐसे मामले सामने protest-3आए हैं, जिससे लग रहा है कि प्रदेश सरकार जाने-अनजाने में कालाधन रखने वालों पर मेहरबान है। जनता से मिली कुछ शिकायतों के अनुसार परिवहन विभाग के कुछ बड़े अधिकारी कंडक्टरों पर बड़े नोटों को छोटे नोट से बदलने के लिए दबाव डाल रहे हैं। ऐसे में अगर यह सरकार की जानकारी में है तो निश्चितरूप से शर्मनाक है और अधिकारियों के स्तर पर इस तरह की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है तो इन मामलों की जांच होनी चाहिए।

  • कंडक्टरों पर बड़े नोटों को छोटे से बदलने को डाला जा रहा दबाव
  • बोले, कालाधन रखने वालों पर मेहरबान प्रदेश सरकार

bjp-logoयह बात पूर्व सीएम  प्रेम कुमार धूमल ने कही। उन्होंने कहा कि कालेधन के खिलाफ इस लड़ाई में सकारात्मकता दिखाकर प्रदेश सरकार को इस तरह के किसी भी आरोपों की तेजी से जांच करनी चाहिए, जिससे सच्चाई सामने आकर इस तरह की अफवाहों पर रोक लग सके। धूमल ने कहा कि केन्द्र सरकार की नोटबंदी के फैसले व नोट बदलने की प्रक्रिया में शुरुआती कठिनाई के पश्चात अब हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। प्रदेश में लम्बी कतारें देखने को नहीं मिल रही हैं। जनता भी इस बात को भली भांति समझ गई है कि जो कालाधन बाहर आएगा, अंततः उनके और इस देश के विकास पर लगेगा और इस बात को भी समझ गई है कि जिन भ्रष्टाचारियों पर आघात हुआ है वह कुछ समय तक तो बौखलाहट व सदमों में अनापः-शनाप बयानबाजी करते रहेंगे।

बेनामी सौदों की जांच रोकेगी भ्रष्टाचार
धूमल ने कहा कि राष्ट्रीय उच्च मार्गों के साथ लगती जमीनों के बेनामी सौदों की जांच के केन्द्र सरकार का आदेश भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए  एक प्रभावी कदम साबित होगा, जो लोग नोट बदलने के फैसले को शंका की दृष्टि से देखकर यह कह रहे थे कि केवल नोट बदलने से भ्रष्टाचार समाप्त नहीं होगा, शायद अब उन्हें विश्वास हो जाएगा कि मोदी सरकार देश से भ्रष्टाचार मिटाने के लिए कृत संकल्प है और भ्रष्टाचार व कालेधन के खिलाफ शुरू की गई लड़ाई के यह केवल प्रारंभिक कदम है। धूमल ने कहा कि जनता की मुश्किलों की आड़ में नोटबंदी के फैसले का विरोध करने वाले नेता अब धीरे-2 एक्सपोज होते जा रहे हैं, जिस जनता की मुश्किलों और परेशानियों का हवाला देकर ममता बेनर्जी, राहुल गांधी व केजरीवाल जैसे नेताओं ने अपनी राजनीति चमकाने का प्रयास किया था, उसी जनता ने मोदी के समर्थन में नारे लगाकर दर्शा दिया है कि भले ही वह कुछ दिन अल्पकालिक परेशानी सह लेंगे पर पिछले 60 वर्षों में कांग्रेस व उसके सहयोगी दलों ने भ्रष्टाचार की जो प्रणाली देश में शुरू कर दी थी, उसे कदापि सहन नहीं करेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है