×

सुंदरनगर में स्वच्छता अभियान की खुली पोल, घांघल खड्ड में फेंका जा रहा डंपिंग साईट का कचरा

सुंदरनगर में स्वच्छता अभियान की खुली पोल, घांघल खड्ड में फेंका जा रहा डंपिंग साईट का कचरा

- Advertisement -

सुंदरनगर। जिला मंडी के सुंदरनगर में एनजीटी (NGT) व नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। आलम यह है कि दशकों पुरानी चंदपुर डंपिंग साईट (Dumping Site) पिछले कई वर्षों से हजारों टन कूड़े से लबालब भर चुकी है। यहां जमा टनों के हिसाब से मलबे के निष्पादन के लिए शहरी विकास विभाग तमाम दावों के बावजूद कुछ भी नहीं कर पाया है। अपनी नाकामयाबी छुपाने के लिए अब डंपिंग साईट से गले सड़े कूड़े कचरे को साथ लगती घांघल खड्ड में डंप किया जा रहा है।


बीबीएमबी (BBMB) मशीनरी पिछले कुछ दिनों से यहां जमे हुए कूड़े को साथ लगती खड्ड में धकेलने में जुटी हुई है। जिससे अब तक हजारों टन कचरा घांघल खड्ड में फेंका जा चुका है।

यह भी पढ़ें: मंडी पहुंचे सीएम जयराम ठाकुर, खुली जीप में रोड शो कर जनता का जताया आभार`

 

डंपिग यार्ड की गंदगी खुलेआम खड्ड में फेंकने से यह बरसात में बह कर प्रदेश के दूसरे राज्यों में पंहुचेगी और किसानों के खेतों व जल जीवन को बर्बाद करेगी। बता दें कि वर्ष 2014 में हिमाचल सरकार के शहरी विभाग द्वारा डच कंपनी नेक्सन नोवस कंपनी से हुए इकरार के तहत सुंदरनगर (Sundernagar) को नीदरलैंड की तर्ज पर विकसित करने की कवायद शुरु की गई थी। इस योजना के सर्वे के लिए ही 50 लाख रुपए का प्रावधान था। लेकिन नीदरलैंड की तर्ज पर सुंदरनगर आज तक मॉडल टाऊन के रूप में विकसित नहीं हो पाया।

 

क्या कहती है नगर परिषद

सुंदरनगर नगरपरिषद (Sundernagar Nagar Parishad) के कार्यकारी अधिकारी अशोक शर्मा का कहना है कि एनजीटी के दिशानिर्देश व शहरी विकास विभाग के सहयोग से शहर के हर घर से नप के वाहनों द्वारा डोर टू डोर कूड़ा उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि डंपिंग साईट पर कई वर्षों से पड़े हुए कूड़े को साफ करने के लिए सरकार की सहायता ली जा रही और सरकार की तरफ से ट्रॉमेल, कंपैक्टर सहित इंसिनेटर मशीनें उपलब्ध करवाई जा रही है। इन्हें जल्द की डंपिंग साईट पर स्थापित किया जाएगा। वहीं, एसडीएम सुंदरनगर डॉ. अमित कुमार शर्मा ने बताया कि बीबीएमबी द्वारा खड्ड में डंपिंग साईट की गन्दगी धकेलने की जानकारी मिली है। मामले की छानबीन कर सख्त कार्रवाही अमल में लाई जाएगी।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है