Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

Gujarat में फिर आया भूकंप: कल रात से अब तक कुल 11 बार छोटे-बड़े झटके लगे

Gujarat में फिर आया भूकंप: कल रात से अब तक कुल 11 बार छोटे-बड़े झटके लगे

- Advertisement -

अहमदाबाद। कोरोना लॉकडाउन के चलते एक तरफ जहां अधिकतर लोगों अपने घरों में हैं तो, वहीं दूसरी तरफ गुजरात (Gujarat) समेत देश के अन्य इलाकों में भूकंप (Earthquake) भी लगातार लोगों को डरा रहा है। गुजरात में कल रात से लेकर अब तक 11 बार छोटे-बड़े भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं। लोग डरे हुए हैं। फिलहाल, किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। ताजा अपडेट के मुताबिक आज सोमवार को गुजरात के कच्छ में दोपहर 12 बजकर 57 मिनट पर भूकंप का झटका मसहूस किया गया। भूकंप के झटकों की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.4 रही। इन झटकों का केंद्र राजकोट से 83 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम की तरफ रहा।

यह भी पढ़ें: 20 जून से दिल्ली में हर रोज होंगे 18,000 Corona Test, निजी अस्पतालों में इलाज की दरें होंगी तय

कल गुजरात के साथ जम्मू-कश्मीर में भी लगे थे झटके

इससे पहले रविवार को देश के दो अलग-अलग हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। गुजरात के राजकोट में रविवार की रात 5.5 की तीव्रता से भूकंप के झटके महसूस किए गए। लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। भूकंप का केंद्र कच्छ में भचाऊ के 10 किलोमीटर अंदर रहा। वहीं दूसरी तरफ जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में भी भूकंप के झटके महसूस किये गए हैं। जम्मू-कश्मीर के कटरा में 3.0 रिक्टर स्केल तीव्रता के झटके महसूस किए गए। भूकंप 8:35 पर महसूस किये गए हैं। राष्ट्रीय भूकंप केंद्र (National Centre for Seismology) द्वारा गुजरात में आए भूकंप के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि रात 8:13 मिनट पर ये झटके महसूस किए गए।


यह भी पढ़ें: Family को ना हो जाए कोरोना इस डर से IRS Officer ने तेजाब पीकर की खुदकुशी

दिल्ली-एनसीआर के झटकों ने बैठा रखा है लोगों का दिल

ये झटके कच्छ, सौराष्ट्र और अहमदाबाद में भी महसूस किए गए हैं। झटके काफी तेज थे और कई सेकंड तक वह इसे महसूस करते रहे। हालांकि, अभी तक भूकंप की वजह से कहीं से किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है। गौरतलब है कि हाल के दिनों में दिल्ली-एनसीआर में कई बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि यह किसी बड़े भूकंप का संकेत हो सकते हैं। गुजरात में भूकंप से लोगों के 2001 के जख्म हरे हो जाते हैं, जब 26 जनवरी के दिन सुबह आए भूकंप ने हजारों लोगों की जान ले ली थी और बड़ी संख्या में लोग बेघर हो गए थे। कई शहर, कस्बे और गांव मलबे के ढेर में बदल गए थे। उस दिन भूकंप का केंद्र कच्छ में था और तीव्रता 6.9 थी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है