Expand

इक्नॉमिक सर्जिकल स्ट्राइकः कहीं फीका न रह जाए लवी

इक्नॉमिक सर्जिकल स्ट्राइकः कहीं फीका न रह जाए लवी

- Advertisement -

शिमला। पीएम नरेंद्र मोदी की इक्नॉमिक सर्जिकल स्ट्राइक का असर अगर कहीं देखना हो तो व्यापार मेले के नाम से मशहूर अंतरराष्ट्रीय लवी मेले में आना होगा। विधिवत तौर पर चाहे मेला अब से कुछ देर में शुरू हो रहा है, पर अश्व प्रदर्शनी से इसकी शुरुआत पहले ही हो चुकी है इसलिए इस बात का अंदाज लगाया जा सकता है कि लवी इस मर्तबा कहीं फीका-फीका ही न गुजर जाए। कारण सीधा है छोटे नोट आम आदमी तक अभी पहुंच ही नहीं पाए हैं।

  • rajypalयह अलग बात है कि स्टेट बैंक आफ इंडिया (एसबीआई) ने मेले के दौरान विशेष काउंटर भी खोले हैं, पर आमजन मेले में जाने से पहले अपनी जेब की तरफ देखता है।
  • यही असर इस मेले पर नजर आ रहा है। अभी तक के हालात तो यही बता रहे हैं, हो सकता है कि आज दोपहर बाद कुछ स्थितियां बदलें।
  • मेले का शुभारंभ अब से कुछ देर बाद राज्यपाल आचार्य देवव्रत करेंगे। वह शिमला से हेलिकाप्टर से रामपुर के लिए रवाना हो चुके हैं। मेले का समापन सीएम वीरभद्र सिंह 14 नवंबर को करेंगे। 

laviसूखे मेवों का बड़े पैमाने पर होता रहा है कारोबार

यह व्यापार मेला कई सौ सालों से चल रहा है और आज भी क्रम बराबर जारी है। लवी मेले में सूखे मेवों का बड़े पैमाने पर कारोबार होता आया है। मेले में मसालों, पारंपरिक आद्यान्नों का भी कारोबार होता है। इसके अलावा ऊनी वस्त्र, किन्नौरी उत्पादों और ऊनी वस्त्रों का भी कारोबार होता है। अब तो मेले में हर प्रकार का सामान मिलता है और लोग इस दौरान जमकर खरीददारी करते हैं। मेले के लिए रामपुर बुशहर के कॉलेज मैदान और आसपास के इलाकों में कई दुकानें सज चुकी हैं और कुछ अभी मेले में दुकानें लगाने जा रहे हैं। मेले में किन्नौर के उत्पादों की अलग से मार्केट लगती है। वैसे तो आधिकारिक रूप से मेला 4 दिन का होता है, लेकिन असल में मेले में खरादीदारी 14 नवंबर के बाद ही होती है। मेले में चार दिन तक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे और नाइट प्रोग्राम भी मेले में होंगे। मेले की तैयारियों के लिए पुलिस ने भी पुख्ता प्रबंध किए हैं। मेले के दौरान यातायात की व्यवस्था बनाए रखने के लिए भी प्रबंध किए गए हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है