- Advertisement -

स्कॉलरशिप घोटाले को लेकर शिक्षा मंत्री का सनसनीखेज खुलासा, पढ़ें खबर

बोले, मामले में शिक्षा विभाग और बैंक कर्मियों की भी मिलीभगत

0

- Advertisement -

ऊना। चर्चित स्कॉलरशिप घोटाले में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए माना कि इसमें शिक्षा विभाग और बैंक कर्मियों की भी मिलीभगत है। शिक्षा मंत्री ने माना कि इसमें निजी विश्वविद्यालयों सहित शिक्षा विभाग के कर्मचारी और बैंकिंग सेक्टर के कर्मचारी भी शामिल हैं, जिसके कारण यह एक बड़ा मामला बन गया है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज है। प्राथमिक जांच के बाद मामला सीबीआई को सौंपने का भी दावा किया है। ऊना कॉलेज के गोल्डन जुबली कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने प्रदेश में स्मार्ट वर्दी के लिए टेंडर प्रक्रिया जारी होने की बात भी कही है।

पीजी कॉलेज ऊना 50 वर्ष पूरे होने पर कॉलेज में गोल्डन जुबली कार्यक्रम आयोजित किया गया, दो दिवसीय समारोह का शुभारंभ प्रदेश के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने किया, जबकि सांसद अनुराग ठाकुर और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती भी समारोह में उपस्थित रहे। कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से विभिन्न कुरीतियों के विरुद्ध संदेश देने का प्रयास किया। जबकि अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।

लेकिन, इस आयोजन में सियासत भी चरम पर है, इस कार्यक्रम के आयोजन से पहले ही प्रदेश के नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने सरकार द्वारा विद्यार्थियों को वर्दी और लैपटॉप नहीं दिए जाने का आरोप लगाया था, जिसके बाद शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने पुरानी वर्दी को स्मार्ट वर्दी में बदल दिए जाने की बात कहते हुए इसके लिए टेंडर प्रक्रिया जारी होने का दावा किया है। उन्होंने पिछली कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में भी घोषित लैपटॉप मौजूदा सरकार द्वारा दिए जाने का दावा किया, जबकि मौजूदा वित्तीय वर्ष के घोषित लैपटॉप मार्च के बाद दिए जाने का भरोसा दिया। उन्होंने छात्र हित में सभी ज़रूरी कदम उठाए जाने का आश्वासन भी दिया।

- Advertisement -

Leave A Reply