×

सुरेश भारद्वाज बोले-शिक्षा बोर्ड ने लिया बड़ा फैसला, छात्रों का बचेगा एक साल

सुरेश भारद्वाज बोले-शिक्षा बोर्ड ने लिया बड़ा फैसला, छात्रों का बचेगा एक साल

- Advertisement -

शिमला। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज (Education Minister Suresh Bhardwaj) ने कहा कि इस बार हिमाचल सरकार के दिशा-निर्देश अनुसार हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड (Himachal Pradesh School Education Board) ने हजारों बच्चों का एक साल बचाने के लिए बड़ा फैसला लिया है। मार्च-2019 की वार्षिक परीक्षाओं में दो पेपरों में फेल अभ्यर्थियों को जून माह में परीक्षा (Exam) देने का मौका मिलेगा। 10वीं और 12वीं में दो पेपरों में फेल अभ्यर्थी (Fail Candidates) भी जून में होने वाली परीक्षाओं में बैठ सकेंगे। भारद्वाज ने कहा कि इस फैसले से जहां हिमाचल के हजारों छात्रों को एक साल बचाने का मौका मिलेगा और जो किसी कारण वश परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए, उन्हें अगली कक्षा में जाने का सुनहरा मौका दिया गया है।
इन परीक्षाओं में जो छात्र मार्च में हुई कंपार्टमेंट (Compartment) के दूसरे चांस की परीक्षा में फेल हुए थे, उन अभ्यर्थियों को भी गोल्डन चांस (Golden chance) दिया गया है। दो चांस में कंपार्टमेंट न तोड़ पाने वाले अभ्यर्थी भी जून में होने वाली परीक्षा में बैठ सकते हैं। बोर्ड शीघ्र ही जून में होने वाली वार्षिक परीक्षाओं को आवेदन करने सहित इसका शेड्यूल भी जारी कर देगा। भारद्वाज ने कहा कि इस बार रिकॉर्ड समय मे बोर्ड ने बोर्ड कक्षाओं के रिजल्ट (Result) को समयसीमा में घोषित किया है। भारद्वाज ने कहा कि हिमाचल सरकार ने बोर्ड के अधिकारियों को आदेश दिए थे कि बच्चों को गोल्डन चांस पर जल्दी फैसला लिया जाए और प्रदेश के हजारों बच्चों के भविष्य को बचाने और कीमती साल को बचाने के आदेश जारी कर जल्दी से परीक्षा करवाने का फैसला लें।
हिमाचल सरकार के दिशा-निर्देश अनुसार प्रदेश में पहली बार इस प्रकार के फैसले स्कूल शिक्षा बोर्ड ने लिए हैं, जिसके लिए अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी और उनकी पूरी टीम बधाई के पात्र है। इतना ही नहीं राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड की वार्षिक परीक्षा में दो पेपरों में फेल और कंपार्टमेंट अंतिम चांस (Last chance)में भी पास न होने वाले अभ्यर्थियों का एक साल बचाने के लिए एसओएस के माध्यम से परीक्षा आयोजित करेगा। शिक्षा मंत्री Education Minister) ने कहा कि प्रदेश में कंपार्टमेंट की परीक्षा पहले सितंबर में होती थी, जिससे बच्चों को एक साल तक अगली कक्षा में जाने के लिए इंतजार करना होता था। इस बार पहली बार यह परीक्षाएं जून में आयोजित होगी और बच्चे अगली कक्षा में दाखिला ले सकेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है