सच साब‍ित हुई साथ जीने, मरने की कसम, एक साथ जलीं बुजुर्ग दंपति की चिताएं

बीमारी से पत्नी ने छोड़ी दुनिया तो पति भी कह गया अलविदा

सच साब‍ित हुई साथ जीने, मरने की कसम, एक साथ जलीं बुजुर्ग दंपति की चिताएं

- Advertisement -

मंडी। वो पति-पत्नी अक्सर ऐसा कहा करते थे कि जिंदगी भर एक दूसरे से जुदा नहीं हुए और दुनिया भी इकट्ठे ही छोड़ेंगे। लोग उनकी बात को मजाक में टाल देते थे। लेकिन, हुआ बिल्कुल वैसा जैसा दोनों कहा करते थे। 70 वर्ष जिंदगी एक साथ जीने के बाद दोनों एक साथ दुनिया को अलविदा कहकर चले गए। दोनों की चिताएं एक साथ जली तो लोगों को उनकी वो बात याद आई।
बता दें कि धर्मपुर उपमंडल की सजाओपीपलू पंचायत के कोहन गांव की जुध्या देवी 85 पत्नी कांशी राम की गत रात बीमारी के कारण मौत हो गई। सुबह गांववासी और परिजन उनके अंतिम संस्कार में व्यस्त हो गए और पार्थिव शरीर को श्मशान घाट पहुंचा दिया। तभी श्मशानघाट पर मौजूद लोगों को सूचना मिली कि जुध्या देवी के पति कांशी राम 92 भी दुनिया छोड़ गए हैं। वहां से लोग उनके घर आ गए और कांशी राम की पार्थिव देह को भी रीति रिवाजों सहित श्मशान घाट पहुंचाया। श्मशानघाट में दोनों की चिताएं एक साथ जलीं। दोनों पति पत्नी 70 वर्ष से इकट्ठे रहते थे। उनके चार बेटे हैं, लेकिन वह अपने बेटों से अलग रहते थे।
बेटे सुभाष चंद का कहना है कि उसके माता-पिता हमेशा यही कहा करते थे कि वे न तो जिंदगी भर एक दूसरे से जुदा हुए और ज़िंदगी की अंतिम सांस तक भी इकठ्ठे ही इस दुनिया को छोड़ेंगे। यही कहना गांव की महिलाओं का भी है, जिनके साथ जुध्या देवी यही कहा करती थी कि वे दोनों पति-पत्नी एक साथ ही सारी उम्र जिए और एक साथ ही इस दुनिया को छोड़ेंगे।
इस वयोवृद्ध जोड़े के देहावसान पर पूरे क्षेत्र में शोक की लहर व्याप्त है और अनेक सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों सहित सिचाई एवं जनस्वास्थ्य, बागवानी और सैनिक कल्याण मंत्री ठाकुर महेंद्र सिंह, पूर्व पार्षद वंदना गुलेरिया, प्रदेश भाजयुमो महामंत्री रजत ठाकुर, पंचायत प्रधान कमलेश भारद्वाज ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है