Covid-19 Update

58,543
मामले (हिमाचल)
57,287
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,079,094
मामले (भारत)
113,988,846
मामले (दुनिया)

बड़ी कार्रवाई: सिरमौर PTF के जिलाध्यक्ष Suspend, 7 शिक्षकों का रोका वेतन

बड़ी कार्रवाई: सिरमौर PTF के जिलाध्यक्ष Suspend, 7 शिक्षकों का रोका वेतन

- Advertisement -

नाहन। जिला सिरमौर में शिक्षा विभाग एलीमेंट्री के उपनिदेशक दिलीप सिंह नेगी ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। मामले में कार्रवाई करते हुए उपनिदेशक ने पीटीएफ के जिलाध्यक्ष एवं जेबीटी शिक्षक सुदर्शन ठाकुर को सस्पेंड कर दिया है। जबकि 7 टीचरों का वेतन फिलहाल बंद करने के आदेश जारी कर दिए हैं। निलंबित जेबीटी अध्यापक सुदर्शन ठाकुर जिले के राजगढ़ ब्लॉक के कनेच स्कूल में तैनात हैं।

इस मामले में गिरी निलंबन की गाज

नाहन में जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिता का आयोजन हुआ था। चूंकि शिक्षा उपनिदेशक की ड्यूटी विधानसभा चुनाव में लगी हुई थी तो उस दौरान नाहन के बीओ नरेश शर्मा को शिक्षा उपनिदेशक ने उक्त खेल प्रतियोगिता का आयोजक सचिव नियुक्त किया था। इसी दौरान पीटीएफ के जिलाध्यक्ष नाहन के बीओ के कार्यालय में एसोसिएशन से जुड़े 18 अध्यापकों को लेकर पहुंच गए थे। इसी बीच टूर्नामेंट में ड्यूटी लगाने को लेकर शराब के नशे में धुत्त इन सभी ने बीओ कार्यालय में हुड़दंग मचाया। 

बीओ की शिकायत पर डिप्टी डायरेक्टर इन एक्शन

कार्यालय में हुड़दंग मचाने को लेकर पूरी स्थिति से बीओ नाहन नरेश शर्मा ने शिक्षा उपनिदेशक को लिखित शिकायत की थी। शिकायत में बीओ नरेश शर्मा ने आरोप लगाया था कि पीटीएफ के अध्यक्ष सुदर्शन ठाकुर व अन्य शराब के नशे में उनके कार्यालय में पहुंचे। साथ ही खेल प्रतियोगिता के ड्यूटी लगाने को लेकर दबाव बनाने लगे। इस दौरान जिलाध्यक्ष सहित कुल 18 अध्यापक मौजूद थे। शिकायत में कहा गया था कि इन सभी ने उनके साथ गाली-गलौज की और उन्हें जमकर धमकाया भी।
हार्ट पेशेंट होने से बिगड़ी थी तबीयत, जाना पड़ा पीजीआई

शिकायत में बीओ नाहन ने यह भी बताया कि जिलाध्यक्ष सहित अन्यों द्वारा किए गए अभद्र व्यवहार के चलते उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। चूंकि वह हार्ट के पेशेंट है। लिहाजा उन्हें उपचार के लिए चंडीगढ़ जाना पड़ा। 

7 शिक्षकों के जवाब भी संतोष जनक नहीं

मामले की शिकायत मिलने के बाद शिक्षा उपनिदेशक ने सुदर्शन ठाकुर सहित सभी 18 अध्यापकों को नोटिस जारी कर जवाब-तलब किया था। लेकिन पीटीएफ के अध्यक्ष सहित 7 अध्यापकों ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इसके चलते सुदर्शन ठाकुर को निलंबित कर दिया गया। जबकि अन्य 7 अध्यापकों का तब तक वेतन रोक दिया गया है, जब तक वह अपना सही जवाब नहीं दे देते। वहीं 11 अन्य अध्यापकों ने अपने जवाब में यह कहा कि उन्हें पीटीएफ के अध्यक्ष ने यह कहकर नाहन बुलाया था कि एसोसिएशन की बैठक रखी गई है।

लिहाजा 11 अध्यापकों के जवाब विभाग ने संतोषजनक पाए हैं, जबकि ठाकुर सहित अन्य 7 पर कार्रवाई का चाबुक चलाया है। उधर, पूछे जाने पर शिक्षा उपनिदेशक दिलीप सिंह नेगी ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि बीओ की शिकायत पर संतोषजनक जवाब न मिलने के चलते जेबीटी अध्यापक सुदर्शन ठाकुर को निलंबित कर दिया गया है। जबकि 7 अन्य अध्यापकों के तब तक वेतन रोकने के आदेश जारी किए गए हैं, जब तक वह अपना सही जवाब नहीं दे देते।

बिजली चोरी करते रंगे हाथ धरा उपभोक्ता, 9720 रुपये वसूला जुर्माना

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है