Expand

बड़ी-बड़ी समस्याएं चुटकी में दूर करेंगे चावल के दाने

मीठे चावल कौओं को खिलाएं तो मिलेगी नौकरी

बड़ी-बड़ी समस्याएं चुटकी में दूर करेंगे चावल के दाने

- Advertisement -

भारतीय संस्कृति में चावल को पूर्णता का प्रतीक तथा देवताओं का प्रिय भोग माना गया है। चावल का प्रयोग केवल धर्म-कर्म में ही नहीं बल्कि कई प्रकार के तंत्र-मंत्र में भी किया जाता है। हम आपको बताते हैं चावल के कुछ आसान से टोटके जिनको अपना कर आप अपनी सभी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

  • सोमवार के दिन सुबह स्नान-ध्यान आदि से निवृत्त होकर शिवलिंग की पूजा करें। पूजा में अपने साथ लगभग आधा किलो या एक किलो चावल का ढेर लेकर बैठें। इसके बाद शिवलिंग की यथासंभव विधि-विधान से पूजा करें। पूजा के बाद एक मुट्ठी चावल शिवलिंग पर अर्पित कर दें। बाकी बचे चावल या तो मंदिर में ही दान कर दें या किसी जरूरतमंद व्यक्ति को दे दें। ऐसा लगातार पांच सोमवार तक करने से घर में अखंड लक्ष्मी का आगमन होता है।
  • अगर आपके शत्रु आपको बहुत ज्यादा परेशान कर रहे हैं और आपके आगे बढ़ने के सभी रास्ते बंद कर दिए हैं तो यह उपाय आपके लिए ही है। साबुत उड़द की काली दाल के 38 और चावल के 40 दाने मिलाकर किसी गड्ढे में दबा दें और ऊपर से नींबू निचोड़ दें। नीबू निचोड़ते समय शत्रु का नाम लेते रहें, उसका शमन होगा और वह आपके विरुद्ध कोई कदम नहीं उठा पाएगा।
  • अगर आप नौकरी नहीं मिलने से परेशान है या आपके ऑफिस में कुछ परेशानियां चल रही हैं तो सबसे आसान उपाय है कि आप कुछ दिनों तक मीठे चावल कौओं को खिलाएं, जल्दी ही आपकी समस्या का समाधान होगा।

  • मनोकामना पूरी करने के लिए शुक्रवार की रात 10 बजे के बाद एक चौकी पर कलश रखें। कलश के ऊपर शुद्ध केसर से स्वस्तिक का चिह्न बनाकर उसमें पानी भर दें। अब कलश में चावल, दूर्वा और एक रुपया डाल दें। फिर एक छोटी सी प्लेट में चावल भरकर उसे कलश के ऊपर रखें। उसके ऊपर श्रीयंत्र स्थापित कर दें। इसके बाद उसके निकट चौमुखी दीपक जलाकर उसका कुंकुम और चावल से पूजन करें। इसके बाद 10 मिनट तक लक्ष्मी का ध्यान करें। आपकी मनोकामना अवश्य पूरी होगी।
  • पितृ दोष दूर करने के लिए अमावस्या के दिन चावल की खीर बनाकर उसमें रोटी मसल लें तथा इसे कौओं के खाने के लिए घर की छत पर रख दें। इस उपाय से घर के पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है। अगर कुंडली में किसी प्रकार का पितृ दोष हो तो उसका अशुभ असर भी समाप्त हो जाता है। साथ ही रुके हुए काम बनने लगते हैं।

  • अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में चंद्र अशुभ हो या किसी दुष्ट ग्रह के प्रभाव से अपना पूरा असर नहीं दे पा रहा है तो ऐसे आदमी को अपनी माता से एक मुट्ठीभर चावल विधिपूर्वक दान ले लेने चाहिए। इससे हमेशा के लिए चन्द्रमा की अशुभता दूर हो जाती है।
  • मन में कोई गहरी इच्छा हो तो सुबह किसी शुभ मुहूर्त या पूर्णिमा के दिन चावलों को केसर या हल्दी में रंग कर पीला कर लें। ध्यान रखें कि चावल का कोई भी दाना टूटा हुआ न हो। अब इन चावलों को किसी मंदिर में जाकर भगवान को समर्पित कर दें और उनसे अपनी इच्छा पूरी करने की प्रार्थना करें। जल्दी ही आपकी सभी समस्याएं दूर हो जाएंगी।
  • किसी भी दिन शुभ मुहूर्त में अथवा पूर्णिमा के दिन सुबह जल्दी उठ कर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं। इसके बाद लाल रंग का एक रेशमी कपड़ा लेकर उसमें पीले चावल के 21 अखंडित दाने रखें। चावल को पीला करने के लिए हल्दी या केसर का प्रयोग करें। अब इन दानों को कपड़े में बांध कर मां लक्ष्मीजी के लिए विधिपूर्वक चौकी बनाएं और उस पर रख दें। इसके बाद लक्ष्मीजी की पूजा करें। पूजा के बाद लाल कपड़े में बंधे चावल अपने पर्स में छिपाकर रख लें। ऐसा करने पर महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है ।और धन संबंधी मामलों में चल रही रुकावटें दूर हो जाती हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है