Expand

नगरोटा बगवां में अतिक्रमण पर चला पीला पंजा, अवैध कब्जे हटाए

एसडीएम ने व्यवस्था सुचारू रखने को आम जनमानस से की सहयोग की अपील

नगरोटा बगवां में अतिक्रमण पर चला पीला पंजा, अवैध कब्जे हटाए

- Advertisement -

नगरोटा बगवां। राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर स्थित नगरोटा बगवां के मुख्य बाजार में अतिक्रमण पर पीला पंजा चला। यातायात व्यवस्था में पड़ रहे व्यवधान और बंद नालियों के कारण फैल रही गंदगी के मद्देनजर एनएच व परिवहन निगम अथॉरिटी तथा नगर परिषद द्वारा आज प्रशासन की सहायता से अतिक्रमण हटाने की मुहिम आरंभ की। इस दौरान जेसीबी मशीन ने जहां कुछ अवैध कब्जों को धराशाई कर दिया, वहीं प्रशासन के कड़े तेवरों को भांपते हुए कुछ दुकानदारों ने अपना सामान स्वयं समेट लेने में ही भलाई समझी। 
इक्का-दुक्का स्थानों पर नगर परिषद के ईओ और अतिक्रमण से संबंधी कुछ लोगों में तीखी बहसबाजी हुई। विरोध के कारण बुलाई गई अतिरिक्त पुलिस बल के बाद उक्त मुहिम निर्विरोध रूप से जारी रही। नगर के नया बस अड्डा से सुबह जारी हुई यह मुहिम शाम तक मुख्य बाजार में जारी रही। गत दिवस एसडीएम सिद्धार्थ आचार्य द्वारा तहसीलदार मनोज कुमार, नप के ईओ चमन लाल कपूर, परिवहन निगम के डीएम आरके जरियाल, आरएम राज कुमार, एसएचओ एनडी थिंड तथा एनएच विभाग के अधिकारियों के साथ नया बस अड्डा क्षेत्र में जाकर अतिक्रमणकारियों को अपना सामान उठा लेने और दुकानदारों को फैलाए गए समान को अपनी हद में समेट लेने की कड़ी चेतावनी देते हुए उन्हें एक दिन का समय दिया था।
इस सिलसिले में आज सुबह नगर परिषद द्वारा बस अड्डा क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने की कर्रवाई आरंभ कर दी गई। इस दौरान कुछ अवैध कब्जों को गिराया गया। नालियों पर निर्मित पक्के स्लैव को हटाया गया और दुकानदारों द्वारा अवैध रूप से बढ़ाए गए छज्जों को हटाया गया। कुछ अतिक्रमणों का सामान नप द्वारा अपने कब्जे में भी ले लिया गया। कर्रवाई के दौरान नप अध्यक्ष स्वर्णा बलिया, ईओ चमन कपूर, जेई, एसएचओ एनडी थिंड की अगुआई में पुलिस बल तथा नप और लोक निर्माण विभाग के कर्मी इस कर्रवाई में शामिल रहे।
  उधर, एसडीएम सिद्धार्थ आचार्य ने व्यापारी वर्ग से व्यवस्था दुरुस्त रखने को सहयोग करने की अपील की है। उन्होंने साथ ही कहा है कि गर्मी के मौसम में कोई बीमारी न पनपे इसके लिए अतिक्रमण के जरिये सफाई में व्यवधान डालने वालों और यातायात व्यवस्था में बाधा डालने बालों के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। लिहाजा ऐसी कर्रवाई पुनः की जा सकती है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है