Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,417,390
मामले (भारत)
228,533,587
मामले (दुनिया)

Video: हिमाचल में Entry पाने को होती है कुछ ऐसी Cheating ,सोचकर भी लगता है डर

Video: हिमाचल में Entry पाने को होती है कुछ ऐसी Cheating ,सोचकर भी लगता है डर

- Advertisement -

सुनैना जसवाल/ ऊना। कोरोनाकाल के चलते हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में एंट्री (Entry) पाना  वैसे तो पुख्ता दस्तावेजों के बगैर असंभव है पर उनका कोई क्या करें जो चोर रास्तों से आ जाते हैं। चोरी- छिपे आने वाले ये लोग अपनी जान तो जोखिम में डालते ही है साथ में औरों के लिए भी खतरा बनते हैं। ये लोग दूसरे राज्यों से ट्रक (Truck) में आते हैं और ट्रक वाले इनको बॉर्डर (Border) पर छोड़ जाते हैं। वहां से ये लोग चोरी-छिपे हिमाचल में प्रवेश कर जाते है। अगर स्वास्थ्य विभाग (Health Deptt) की पकड़ में आ गए तो उनको क्वारंटाइन कर दिया जाता हैए अगर पकड़ में नहीं आए तो अंदाजा सहज लगाया जा सकता है कि अंजाम क्या होगा। पंजाब की सीमा से सटा जिला ऊना (Una) प्रदेश में लगातार कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है। ऊना जिला में कोरोना (Corona) के अभी तक दो सौ से अधिक मामले सामने आ चुके है, जिसमें से अभी भी 60 के करीब केस एक्टिव है। शुरूआती दौर में जिस तरह की सख्ती जिला ऊना के प्रवेश द्वार पर देखने में मिल रही थी, वही सख्ती आज भी है। लेकिन कुछ लोग पुलिस को चकमा देकर चोर रास्तों से जिला की सीमाओं में प्रवेश कर रहे है, जिसमें से ज्यादा संख्या बाहरी राज्यों से आने वाले श्रमिकों की है।

ये भी पढ़ेः Police को चकमा देकर चोर रास्ते से Una पहुंच गए 21 मजदूर, बस में बिठाकर भेजा वापस

कुछ दिन पहले 21 श्रमिक पहुंचे थे नंगल पंजाब से

पिछले कुछ दिनों से ऐसे मामलों की तादाद बढ़ी है लेकिन पुलिस इस पर अंकुश लगाने में नाकाम साबित हुई है। कुछ दिन पहले की बात करें तो 21 श्रमिक नंगल पंजाब से थ्री व्हीलरों में सवार होकर चोर रास्ते में ऊना पहुंच गए थे, जिसके बाद मामले की भनक लगते ही पुलिस ने उन्हें उन्हें दोबारा ऊना की सीमा से बाहर कर दिया। ऐसा ही एक मामला फिर ऊना में सामने आया है। दो लोग चोर रास्तों से होते हुए बदायूं (यूपी) से ऊना शहर में पहुंच गए जिसकी सूचना स्थानीय लोगों ने स्वास्थ्य विभाग को दी जिसके बाद स्वाथ्य कर्मियों ने उनकी झुग्गियों में पहुंचकर उन्हें होम क्वारंटाइन कर दिया। चोरी छिपे ऊना में प्रवेश करने वाले श्रमिकों का ये भी कहना है कि वो बिना किसी पास या रजिस्ट्रेशन के आये है। उन्होंने बताया कि यूपी से दिल्ली और दिल्ली से नंगल पंजाब तक बस में पहुंचे और उसके बाद नंगल से पैदल ही मुख्य बॉर्डर से ना होकर खेतों और दूसरे रास्तों से ऊना आये है।

चालक बोला- मैं लाया था दो लोगों को

हिमाचल अभी अभी की टीम ने अपने स्तर पर मामले की जांच की तो पता चला की एक प्रवासी अपने मालवाहक वाहन में भी यूपी से लोगों को ऊना ला रहा है। कैमरा के आगे खुद एक मालवाहक वाहन के चालक राजेश ने माना कि वो यूपी से दो बार लोगों को ऊना लेकर आया है। उसने बताया कि ऊना के प्रवेश द्वार मैहतपुर में पुलिस नाके से पहले ही लोगों को उतार देता है और खुद खाली गाड़ी लेकर जिला की सीमा में प्रवेश करता है जबकि उसके साथ आये लोग दूसरे रास्तों से ऊना में एंट्री करते है।

चोर रास्तों का पता लगाकर उन्हें बंद करेंगे

चोरी छिपे जिला में पहुंचने वाले लोग स्वास्थ्य विभाग के लिए भी सिर दर्द बने हुए है। कई दफा तो लोग ऐसे लोगों की जानकारी दे देते है लेकिन कुछ लोगों की सूचना स्वास्थ्य महकमे तक नहीं पहुँचती है। स्वास्थ्य कर्मी ने बताया कि चोरी छिपे आने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए तभी इसपर रोक लग पायेगी। स्वास्थ्य कर्मी ने माना कि उन्होंने खुद पुलिस को ऐसे मामलों के बारे सूचित किया है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती। एएसपी ऊना विनोद धीमान ने कहा कि पुलिस जल्द ही चोर रास्तों का पता लगाकर उन्हें बंद करेगी। वहीं एएसपी ऊना ने लोगों से चोरी छिपे आने वाले लोगों की सूचना पुलिस को देने की अपील भी की है। एएसपी ऊना ने कहा कि जानकारी छिपकर अगर कोई जिला में प्रवेश करता है तो पुलिस उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group  

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है