Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

सेना का राजनीतिकरण : पूर्व सैनिकों ने कहा- ‘हमने राष्ट्रपति को कोई चिट्ठी नहीं लिखी’

सेना का राजनीतिकरण : पूर्व सैनिकों ने कहा- ‘हमने राष्ट्रपति को कोई चिट्ठी नहीं लिखी’

- Advertisement -

नई दिल्ली। सेना के राजनीतिकरण (Politicization of Indian Army) के विरोध में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) को चिट्ठी लिखने की बात से कई पूर्व सैनिकों ने इनकार किया है। इससे पहले तीन सेना प्रमुखों के साथ 156 सैन्य अधिकारियों (Ex Army officers) की ओर से राष्ट्रपति को सेना का राजनीतिक इस्तेमाल बंद करने की मांग करते हुए पत्र लिखे जाने की खबरें थीं। कांग्रेस (Congress) ने भी पत्र की कॉपी के साथ ट्वीट किया था। लेकिन अब सैन्य अधिकारियों के ऐसे किसी पत्र से इनकार करने के बाद एक नया विवाद खड़ा हो गया है। राष्ट्रपति भवन (President House) ने भी ऐसी किसी चिट्ठी के मिलने से इनकार किया है।

यह भी पढ़ें: 156 पूर्व सेना अधिकारियों की मांग: बंद हो सेना का राजनीतिकरण


पूर्व आर्मी चीफ एस.एफ रॉड्रिग्स ने ऐसी किसी चिट्ठी के बारे में जानकारी से ही इनकार किया है। बता दें कि पूर्व सैन्य अधिकारियों के नाम से सर्कुलेट हो रही चिट्ठी (Letter) में उनका पहला नाम बताया जा रहा था। एयर चीफ मार्शल एनसी सूरी ने भी ऐसी किसी चिट्ठी पर साइन करने की बात से इनकार किया है। पूर्व आर्मी चीफ रॉड्रिग्स ने कहा, ‘मैं नहीं जानता कि यह सब क्या है। मैं अपनी पूरी जिंदगी राजनीति से दूर रहा हूं। 42 साल तक अधिकारी के तौर पर काम करने के बाद अब ऐसा हो भी नहीं सकता। मैं हमेशा भारत को प्रथम रखा है। मैं नहीं जानता कि यह कौन फैला रहा है। यह फेक न्यूज का क्लासिक उदाहरण है।’

खत से सहमत नहीं

एयर चीफ मार्शल एनसी सूरी (NC Suri) ने कहा, ‘यह एडमिरल रामदास की ओर से लिखा लेटर नहीं है। इसे किसी मेजर चौधरी ने किया है। उन्होंने इसे लिखा है और यह वॉट्सऐप और ईमेल किया जा रहा है। ऐसे किसी भी खत के लिए मेरी सहमति नहीं ली गई थी। इस चिट्ठी में जो कुछ भी लिखा है, मैं उससे सहमत नहीं हूं। हमारी राय को गलत ढंग से पेश किया गया है।’


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है