×

सुषमा के समय विदेश सचिव रहे एस जयशंकर को इस वजह से मिला विदेश मंत्रालय

सुषमा के समय विदेश सचिव रहे एस जयशंकर को इस वजह से मिला विदेश मंत्रालय

- Advertisement -

नई दिल्ली। मोदी कैबिनेट (Modi cabinet) में मंत्रियों को उनके मंत्रालय का बंटवारा कर दिया गया है। इस बार कैबिनेट में जगह बनाने वाले मंत्रियों में सबसे नया और चौंकाने वाला चेहरा रहा पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर (S. Jaishankar) का, जिन्हें विदेश मंत्री (foreign Minister) का दायित्व सौंपा गया। बता दें कि पिछली सरकार में जब सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) विदेश मंत्री थी तब एस जयशंकर विदेश सचिव की भूमिका में थे। एस जयशंकर का नाम डोकलाम विवाद से लेकर संयुक्त राष्ट्र में भारत की पैरवी में भी सामने आया। जहां पर उन्होंने भारत का जबरदस्त पक्ष रखा था।


यह भी पढ़ें:-पीएम ने फिर चौंकाया, नंबर 3 को बनाया नंबर 2 और ये मंत्रालय रख लिए अपने पास


पीएम मोदी से इस तरह हुआ था पीएम बनने से पहले परिचय

मोदी के पहले कार्यकाल के दौरान एस जयशंकर ने जनवरी 2015 से लेकर जनवरी 2018 तक विदेश सचिव रहते हुए उनकी विदेश नीति को आकार प्रदान करने में अहम भूमिका निभाई, जिसके चलते खासतौर से अमेरिका और अरब देशों समेत प्रमुख देशों के साथ भारत के संबंध को महत्वपूर्ण विकास व विस्तार मिला। बताया गया कि एस. जयशंकर और नरेंद्र मोदी की जान-पहचान उनके पीएम बनने से पहले से थी। साल 2012 में जब नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) गुजरात के सीएम के रूप में चीन के दौरे पर थे, उसी दौरान जयशंकर उनसे मिले थे। इस दौरान हुई आपसी बातचीत के दौरान जयशंकर मोदी के विश्वसनीय हो गए थे। वहीं विदेश सचिव बनने से पहले वो अमेरिका में भारत के राजदूत रहे थे।

 


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है