Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

हवाई हमले के प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा, ‘धमाके इस कदर तेज थे कि लगा जैसे जलजला आ गया हो’

हवाई हमले के प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा, ‘धमाके इस कदर तेज थे कि लगा जैसे जलजला आ गया हो’

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना द्वारा मंगलवार तड़के पाकिस्तान के बालाकोट (Balakot) में जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammad) के ठिकानों को निशाना बनाते हुए पुलवामा हमले (Pulwama attack) का बदला ले लिया गया। बालाकोट इलाके में रहने वाले लोग जिन्होंने इन धमाकों को होते हुए देखा उन्होंने बताया कि हमले काफ़ी ख़ौफनाक थे, जिससे सोए लोगों की नींद टूट गई। हवाई हमले के प्रत्यक्षदर्शियों (Eyewitnesses) ने कहा कि धमाके इस कदर तेज थे कि लगा जैसे जलजला आ गया हो। मीडिया रिपोर्ट्स में सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि इस हमले में 350 आतंकी मारे गए हैं। इनमें 25 ट्रेनर थे। 12 मिराज विमानों ने 1000 किलो बम बरसाए। जैश का कंट्रोल रूम अल्फा-3 उड़ा दिया गया।


यह भी पढ़ें:
राजस्थान में दहाड़े मोदी: सौगंध मुझे मिट्टी की, देश नहीं मिटने दूंगा

जिस इलाके में भारतीय वायुसेना ने इस एयरस्ट्राइक को अंजाम दिया वहां के लोगों ने बताया कि सुबह हम देखने उस जगह गए जहां धमाके हुए थे, वहां बड़े गड्ढे हो गए थे। कई मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए थे। एक व्यक्ति ज़ख़्मी भी दिखा। वहीं भारत सरकार के विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया है कि इस हमले में विशेष तौर पर केवल जैश के शिविर को निशाना बनाया गया और विशेष ध्यान रखा गया कि आम लोग इसकी चपेट में ना आएं। ये कैंप घने जंगलों में एक पहाड़ी पर था जो आम आबादी वाले इलाक़े से दूर है। बता दें कि इससे पहले 1971 की जंग और 1999 की कारगिल की जंग के वक्त भारतीय वायुसेना ने इस तरह की कार्रवाई की थी। दोनों ही मौकों पर भारत की कार्रवाई पाकिस्तान की सेना के खिलाफ थी।


 

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है