Facebook के कर्मचारी PM को दे रहे ‘गाली’; रविशंकर प्रसाद ने मार्क जकरबर्ग को लिखा पत्र

Facebook के कर्मचारी PM को दे रहे ‘गाली’; रविशंकर प्रसाद ने मार्क जकरबर्ग को लिखा पत्र

- Advertisement -

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने फेसबुक के CEO मार्क जकरबर्ग (Mark zuckerberg) को सोशल मीडिया दिग्गज की भारत टीम की ‘राजनीतिक प्रवृत्ति’ को लेकर एक पत्र लिखा है। फेसबुक की राजनीतिक दलों से साठगांठ के आरोपों के बीच प्रसाद का लेटर काफी अहम है। प्रसाद ने कहा है कि सन 2019 के चुनाव से पहले फेसबुक इंडिया प्रबंधन ने दक्षिणपंथी विचारधारा के समर्थकों के पेज डिलीट कर दिए या उनकी पहुंच कम कर दी। फेसबुक को संतुलित व निष्पक्ष होना चाहिए। केंद्रीय सूचना प्रोद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने फेसबुक मुखिया मार्क जुकरबर्ग को पत्र लिखकर सीधा सीधा आरोप लगाया है कि एक तरफ जहां चुनाव मे हारे हुए लोग सोशल मीडिया के जरिए लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर संदेह खड़ा कर रहे हैं।


यहां जानें अपने इस पत्र में केन्द्रीय मंत्री ने और क्या लिखा

उन्होंने पत्र में लिखा है फेसबुक के कर्मचारी पीएम नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) और वरिष्ठ केन्द्रीय मंत्रियों के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने यह भी लिखा है कि उन्हें जानकारी मिली है कि फेसबुक इंडिया की टीम में कई वरिष्ठ अधिकारी एक खास राजनीतिक विचारधारा के समर्थक हैं। प्रसाद का यह पत्र अमेरिकी अखबार वर्ल्ड स्ट्रीट जर्नल की उस रिपोर्ट के बाद सामने आया है, जिसमें फेसबुक की भारत इकाई पर भेदभाव करते हुए बीजेपी के पक्ष में होने का दावा किया गया था। रिपोर्ट में कहा गया था कि फेसबुक ने भेदभाव से काम करते हुए मानदंडों की धज्जियां उड़ाने वाले बीजेपी समर्थित पेजों से कंटेंट नहीं हटाया। इसके साथ ही कुछ अकाउंट्स को भी डिलीट नहीं किया।

यह भी पढ़ें: Copy-Paste करने वालों की खैर नहीं, #Twitter ने लिया बड़ा फैसला

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यदि कंपनी में काम करने वाला दूसरा कर्मचारी अपनी विचारधारा लिखे तो उसे टारगेट किया जाता है। कंपनी के ऐसे अफसरों की सरपरस्ती में कई कट्टरपंथी लोगों ने समाज में अशांति फैलाने के लिए भड़काऊ पोस्ट लिखी और लोगों को सरकार के खिलाफ भड़काने की कोशिश की। लेकिन सब कुछ जानते हुए भी ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि फेसबुक के साथ एक बड़ी समस्या है कि उसने फैक्ट चेकिंग का जिम्मा थर्ड पार्टी को दे रखा है। ऐसे में वह कोई भी अफवाह फैलाने वाली पोस्ट आने पर बड़ी आसानी से इसे थर्ड पार्टी का काम बताकर अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लेता है। यहां तक कि कोविड- 19 को लेकर देश भर में भ्रम फैलाने वाली कई पोस्ट फैलाई गई। जिसे फेसबुक ने क्रॉस चेक नहीं किया।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखने के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है