Expand

अंग्रेजी समझने में फेल हुई बिहार पुलिस, बेकसूर व्यापारी को किया लॉकअप में बंद

पटना के फैमिली कोर्ट ने किया रिहा

अंग्रेजी समझने में फेल हुई बिहार पुलिस, बेकसूर व्यापारी को किया लॉकअप में बंद

पटना। बिहार में पुलिस को अंग्रेजी के शब्द ने ऐसा उलझाया कि उनकी वजह से एक शख्स को बिना कसूर के लॉकअप में रात गुजारनी पड़ी।तलाक के केस में उलझे एक मिठाई व्यापारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और उसे सिर्फ इस वजह से पुलिस लॉकअप में रात बितानी पड़ी क्योंकि पुलिस ने अदालत के आदेश के शीर्ष पर लिखे गए शब्द को अरेस्ट वारंट समझ लिया। जबकि कोर्ट ने व्यापारी की संपत्ति के विवरण का आकलन करने का निर्देश था, क्योंकि वह अपनी पत्नी को रखरखाव का भुगतान करने में विफल रहा था।

जहानाबाद जिले के नीरज कुमार को गिरफ्तार किया गया था और अगले दिन पटना में फैमिली कोर्ट के समक्ष पेश किया। कोर्ट ने महसूस किया कि पुलिस ने उन्हें गुमराह किया और तुरंत उनकी रिहाई का आदेश दिया।फैमिली कोर्ट के वकील यशवंत कुमार शर्मा ने कहा कि अदालत द्वारा जारी इस तरह के एक दस्तावेज को ‘डिस्ट्रेस वारंट’ कहा जाता है, जिसमें पति की संपत्ति विवरण का आकलन करने का आदेश होता है। पुलिस ने इसे गिरफ्तारी वारंट समझ लिया।

जहानाबाद एएसपी (मुख्यालय) पंकज कुमार ने चूक को स्वीकार करते हुए कहा, ‘कहीं भी दस्तावेज में पुलिस को नीरज को गिरफ्तार करने का निर्देश नहीं था।’ उन्होंने कहा कि अंग्रेजी में अदालत के आदेश ने पुलिस को निर्देश दिया कि नीरज अपनी पत्नी रेणु देवी को प्रति माह 2,500 रुपए देने में नाकाम रहे, उनकी अचल संपत्तियों के विवरण का आकलन किया जाए।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है