Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

लव जिहाद: झोलाछाप डॉक्टर ने किया Sirmaur की महिला से दुष्कर्म, जबरन करवाया निकाह !

लव जिहाद: झोलाछाप डॉक्टर ने किया Sirmaur की महिला से दुष्कर्म, जबरन करवाया निकाह !

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। सिरमौर (Sirmaur)ज़िले के पांवटा साहिब से एक महिला के साथ दुष्कर्म (Rape)और फिर जबरन निकाह कराए जाने का मामला सामने आया है। महिला ने शिमला में मीडिया से बातचीत करते हुए इस बात का खुलासा किया है। महिला के मुताबिक एक झोलाछाप डॉक्टर ने पहले तो उसके साथ दुष्कर्म जैसी घिनौनी वारदात को अंजाम दिया फिर उसकी मजबूरियों का फायदा उठाकर जबरन निकाह किया। महिला आरोपी की क्लीनिक ( Clinic) में काम करती थी।



उत्तर प्रदेश का रहने वाला है आरोपी

महिला ने बताया कि आरोपी उसकी मजबूरियों का फायदा उठाकर क्लीनिक में उसे काम देने के बदले उसके साथ बलात्कार करता था। वहीं इस बात की शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी देकर कथित झोलाछाप पीड़िता को चुप रहने के लिए मजबूर करता था।

 

पीड़िता ने इलाके की पुलिस पर भी पैसे लेकर मामले को दबाने का आरोप लगाया है। महिला के अनुसार पैसे लेकर पुलिस ने चार वर्षों में मामले को उलझाने के लिए लगातार अदालतों को गुमराह किया। पीड़ित महिला के मुताबिक आरोपी सहारनपुर का रहने वाला है और पांवटा साहिब में कई आपराधिक मामलों में भी संलिप्त रह चुका है।


रेप के आरोप से बचने के लिए किया निकाह

हिंदू धर्म से ताल्लुक रखने वाली महिला ने आरोपी पर जबरदस्ती धर्म के खिलाफ निकाहनामा पर हस्ताक्षर करवाने का भी आरोप लगाया है। आरोपी मुस्लिम धर्म से संबंधित है। कथित आरोपी ने दुष्कर्म के आरोप से बचने के चलते महिला से निकाह का ड्रामा किया।

महिला ने कहा कि उसके क्लीनिक में काम करने के बावजूद उसे एक करीब 3 साल का मेहनताना नहीं दिया गया है लेकिन जब-जब भी उसने अपना पैसा मांगने की कोशिश की तो उसके साथ बलात्कार ,मारपीट की गई और जान से मारने की भी धमकी दी गई। ऐसे में थक हार कर महिला ने शिमला में इस मामले को सरकार पुलिस प्रशासन तक पहुंचाने की गुहार लगाते हुए मदद की मांग की है।


न्याय की लगाई गुहार

इसके साथ ही महिला ने कथित आरोपी के खिलाफ बलात्कार की धाराएं लगाते हुए तुरंत गिरफ्तार कर उसके साथ न्याय की भी मांग की है। पीड़िता ने कहा कि साल 2014 से पुलिस के पास लगातार फरियाद करने के बाद भी मामला आगे नहीं बढ़ पा रहा है। वहीं कोर्ट के आदेश के बावजूद पुलिस जांच में अड़ंगा लगती रही है। कोर्ट ने जब भी इसकी रिपोर्ट तलब की तो पुलिस ने कभी कागजात गुम होने का बहाना लगाया तो कभी जांच किए जाने के चलते इसमें रोड़ा अटकाया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है