×

घर से भागे बच्चे के परिजनों का लगा पता

घर से भागे बच्चे के परिजनों का लगा पता

- Advertisement -

धर्मशाला। घर से भागकर आए एक बच्चे का पता चाइल्डलाइन कांगड़ा के माध्यम से लगा लिया गया है। शनिवार को कोटला पुलिस के माध्यम से यह बच्चा चाइल्डलाइन को मिला था और इसे खुला आश्रय में रखा गया था। चाइल्डलाइन कांगड़ा के निदेशक रमेश मस्ताना ने बताया कि 18 फरवरी को ही बालक की काउंसलिंग की गई तथा उसने अपना नाम मनी बताया और घर का पता लुधियाणा का बताया । इस पर बालक की फोटो लुधियाणा पुलिस कंट्रोल रुम में भेजी गई तथा बालक के बताए पते पर छानबीन शुरु कर दी गई, परंतु कोई सफलता न मिल पाई। क्योंकि मनी दो माह पूर्व लुधियाना में ही रहता था, परंतु उसकी मां दूसरी शादी करने के उपरांत गांव दरंग, धुलारा तहसील सिहुंता जिला चंबा, हिमाचल प्रदेश में आ गई है । इस बात का खुलासा तब हुआ जब मनी के परिजन उसे ढूंढते हुए कोटला पुलिस तक पहुंचे। कोटला पुलिस चौकी प्रभारी सुरेंद्र ठाकुर ने उन्हें खुला आश्रय का पता बताया । उसके उपरांत मनी के मौसा पवन सिंह व मौसी सिमरनजीत कौर ने खुला आश्रय पहुंच कर चाइल्डलाइन निदेशक को बताया कि बालक नशे का आदी है तथा घर से भाग आया है।


  • कोटला पुलिस को मिला था बच्चा, पूछताछ में गलत बता रहा था पता
  • परिजनों ने कबूला नशे का है आदी, मंगलवार को चाइल्ड वेल्फेयर कमेटी के सामने होगा पेश

उन्होंने बताया कि यह सत्य है कि बालक मनी लुधियाना में अपनी मां व भाई बहन के साथ रहता था, परंतु मनी के पिता की दुर्घटना में मृत्यु के उपरांत उसकी मां ने गोविंद ठाकुर के साथ दूसरी शादी कर ली। गोविंद ठाकुर पवन सिंह का सगा भाई है तथा बिलासपुर के किसी होटल में कार्यरत है। इस बात की पुष्टि धुलारा ग्राम पंचायत प्रधान सुरेंद्र महाजन ने भी की है कि उक्त बालक दो माह पूर्व ही अपनी मां के साथ यहां आया है।  चाइल्डलाइन कांगड़ा के निदेशक रमेश मस्ताना ने बताया कि इस बारे में लुधियाणा पुलिस को भी सूचित कर दिया गया है कि बालक के परिजनों का पता चल गया है । बालक के पिता महिंद्र सिंह जो कि लुधियाणा में फेरी लगाने का काम करता था और उसकी रेल से कट जाने से मृत्यु हो गई थी। इसके उपरांत उसकी मां रेखा देवी ने गोविंद ठाकुर से दूसरी शादी करीब दो माह पूर्व ही की थी। रमेश मस्ताना ने बताया कि बालक का सोमवार को मेडिकल करवाया जाएगा और मंगलवार को जिला बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बालक के मौसी व मौसा को उसकी पहचान संबंधी वांछित दस्तावेजों सहित मंगलवार को जिला बाल कल्याण समिति कांगड़ा स्थित धर्मशाला के समक्ष पेश होने को कहा है ।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है