Covid-19 Update

1,99,430
मामले (हिमाचल)
1,92,256
मरीज ठीक हुए
3,398
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

किसानों में गेहूं बेचने को लेकर मचा हाहाकार, 2 दिन बाद खत्म हो जाएगी डेडलाइन

अभी भी डेढ़ सौ से अधिक किसानों के घरों में पड़ी है गेहूं

किसानों में गेहूं बेचने को लेकर मचा हाहाकार, 2 दिन बाद खत्म हो जाएगी डेडलाइन

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल के ऊना जिला के किसानों में गेहूं की फसल (Wheat Crop) बेचने को लेकर हाहाकार मच गया है। हालत यह है कि जिला के हरोली (Haroli) उपमंडल स्थित एफसीआई के गोदाम के बाहर किसानों की लंबी कतारें लगी हुई हैं। किसान (Farmer) ट्रैक्टर ट्रॉली और ट्रकों में अपना अनाज भरकर एफसीआई को बेचने की तैयारी में बाहर डटे हुए हैं। लेकिन ग्रेडिंग प्रणाली (Grading System) के तहत खरीदी जा रही गेहूं के चलते सभी किसानों की गेहूं को खरीद पाना असंभव दिखाई दे रहा है। दूसरी और प्रदेश सरकार द्वारा गेहूं की खरीद को लेकर जारी की गई डेडलाइन 10 जून को खत्म हो जाएगी। जिसके बाद किसानों की गेहूं एफसीआई (FCI) द्वारा नहीं खरीदी जाएगी। हालांकि 8 जून तक एफसीआई के गोदाम में भी टोकन के आधार पर किसानों से गेहूं खरीदी जा रही थी। लेकिन अब वहां भी पहले आओ पहले पाओ के आधार पर किसानों से गेहूं खरीदने का क्रम शुरू कर दिया गया है। ऐसे में सैकड़ों क्विंटल गेहूं लेकर एफसीआई के गोदाम के बाहर खड़े किसानों के लिए उनकी फसल बेचना असंभव प्रतीत हो रहा है। किसानों ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि गेहूं खरीद को लेकर दी गई डेडलाइन को बढ़ाया जाए ताकि सभी किसान अपनी फसल एफसीआई को बेच सकें।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में 4 दिन बाद दस्तक देगी प्री मानसून, 10 जिलों में जारी किया येलो अलर्ट

वहीं जिला परिषद ओंकारनाथ कसाना ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की जयराम सरकार (Jai Ram Govt) किसानों की इस समस्या को देखते हुए गेहूं खरीद को लेकर दी गई डेडलाइन (deadline) को बढ़ाए। किसान अपनी फसल एफसीआई को ही बेचना चाहते हैं ऐसे में सरकार को भी इस और ध्यान देते हुए किसानों से वाजिब मूल्य की में उनकी फसल खरीदनी चाहिए। ओंकारनाथ ने कहा कि सरकार जब किसानों को बिचौलियों से बचाने का प्रयास कर रही है तो इस दिशा में कारगर कदम भी उठाए जाने चाहिए।


 

 

यह भी पढ़ें: राहत: किसानों को पहले के रेट में ही मिलेगी खाद, जयराम ने मोदी का जताया आभार

वहीं भारतीय खाद निगम कांगड़ खरीद केंद्र के प्रभारी विकास काले ने कहा कि सरकार द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार 10 जून तक किसानों से उनकी फसल खरीदी जाएगी। उन्होंने बताया कि 8 जून तक का टोकन के आधार पर किसानों से ग्रेडिंग करने के बाद फसल खरीदी जा रही थी। लेकिन अब डेडलाइन को 2 दिन बचे हैं ऐसे में किसानों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर गेहूं बेचने का मौका दिया जा रहा है। हालांकि काफी सारे किसान अभी गोदाम के बाहर फसलें लेकर खड़े हैं। फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा जितना संभव हो सकेगा किसानों की फसल 2 दिनों में खरीदी जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है