Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

अब मसूर की दाल को भी तरसेगा पाकिस्तान, भारतीय किसानों ने लिया बड़ा फैसला

अब मसूर की दाल को भी तरसेगा पाकिस्तान, भारतीय किसानों ने लिया बड़ा फैसला

- Advertisement -

नई दिल्ली। पुलवामा हमले (Pulwama Attack) के बाद पाकिस्तान को टमाटर और पान की सप्लाई रोकने के फैसले के बाद अब देश के किसानों ने मसूर की आपूर्ति भी रोकने का फैसला किया है। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीतापुर के मसूर उत्पादक किसानों ने पाकिस्तान को पंजाब (Punjab) के रास्ते मसूर की आपूर्ति नही करने का ऐलान कर दिया है। ऐसे में अब पाकिस्तान के लोग मसूर की दाल खाने को भी तरस जाएंगे।

यह भी पढ़ें: LoC पर पाकिस्तान की लगातार फायरिंग से जंग के हालात, तीन लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में पैदा होने वाली मसूर पंजाब के रास्ते पाकिस्तान (Pakistan) भेजी जाती है। इससे पहले मोदी सरकार ने पाकिस्तान की ओर जाने वाले ‘हमारे हिस्से के पानी’ को रोकने का निर्णय किया था। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) के मुताबिक, भारत के तीन नदियों के अधिकार का पानी प्रोजेक्ट बनाकर पाकिस्तान के बजाय यमुना में छोड़ा जाएगा। मालूम हो कि ब्यास, रावी और सतलुज नदियों का पानी भारत से होकर पाकिस्तान पहुंचता है। इसका मतलब यह हुआ कि आतंक की खेती करने वाले पाकिस्तान अब बूंद-बूंद को तरसेगा।


यह भी पढ़ें: बौखलाया पाकिस्तान: जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों के खाने में जहर मिलाने की साजिश

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में झाबुआ के टमाटर उत्पादक और छतरपुर के पान उत्पादकों ने पाकिस्तान को अपने उत्पाद न भेजने का ऐलान पहले ही कर दिया था। इसके चलते पाकिस्तान को भेजी जाने वाली सामानों की खेप पंजाब में वाघा बॉर्डर (Wagha Border) के रास्ते नहीं जा रही है। आपको बता दें कि भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा भी छीन लिया है, जिससे वहां से भारत आने वाले सामानों पर 200 फीसदी कस्टम ड्यूटी लग रही है।

 

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है