Covid-19 Update

1,64,355
मामले (हिमाचल)
1,28,982
मरीज ठीक हुए
2432
मौत
25,227,970
मामले (भारत)
164,275,753
मामले (दुनिया)
×

#FarmersProtest : अड़ गए किसान- मांगों पर फैसला करें सरकार,नहीं तो हम चले

#FarmersProtest : अड़ गए किसान- मांगों पर फैसला करें सरकार,नहीं तो हम चले

- Advertisement -

नई दिल्ली। कृषि कानून के खिलाफ आज 10वें दिन भी किसानों का विरोध जारी है। दिल्ली बॉर्डर पर जमे किसान संगठनों (Farmers organizations ) और सरकार के बीच आज पांचवें दौर की बातचीत चल रही है।
ब्रेक के बाद किसान खासे नाराज नजर आए। उन्होंने दो टूक कहा कि हमारी मांगों पर फैसला लें, नहीं तो हम बैठक छोड़ कर जा रहे हैं।  गुरुवार को हुई चौथे दौर की बातचीत में कोई सहमति नहीं बन पाई थी। किसान संगठन कानून को पूरी तरह वापस लेने पर अड़े हैं। किसान नेताओं ने अपनी मांगों को दोहराते हुए कहा कि इन नए कृषि कानूनों ( Agricultural laws) को रद्द करने के लिए केन्द्र सरकार संसद का विशेष सत्र बुलाए। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारी नए कानूनों में संशोधन नहीं चाहते हैं बल्कि वे चाहते हैं कि इन कानूनों को रद्द किया जाए। किसान अपनी मांगों को लेकर किसी भी सूरत में झुकने को तैयार नहीं हैं।


यह भी पढ़ें: आठ दिसंबर को #Bharat_Bandh करेंगे किसान, कल फूंकेंगे #PM_Modi का पुतला


किसानों ने सरकार से जल्द उनकी मांगे मानने की अपील की है। सरकार की तरफ से संशोधन की बात रखी गई, वहीं दूसरी तरफ किसान नेता कृषि कानून रद्द कराने पर अड़े हैं। सरकार ने संशोधन का प्रस्ताव दिया, जिसे किसान नेताओं ने ठुकरा दिया। विज्ञान भवन में हो रही इस बैठक में किसान संगठनों के 40 प्रतिनिधि शामिल हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल किसान नेताओं के साथ बैठक में मौजूद हैं।किसानों ने आज भी लंगर से मंगाया खाना, जमीन पर बैठकर खायाविज्ञान भवन में मीटिंग के दौरान किसानों ने आज भी लंगर से खाना मंगवाया और नीचे फर्श पर बैठकर खाया। किसानों के लिए लंच भी आया था और चाय भी। लंच में दाल, सब्जी और रोटी रही। किसानों के लिए लंच बंगला साहब गुरुद्वारे से पहुंचा था। किसानों का खाना कार सेवा की गाड़ी लेकर आई थी।

यह भी पढ़ें: #FarmersProtest : बादल ने लौटाया #Padma_Vibhushan, बोले – कुर्बान करने के लिए और कुछ नहीं

ग्रेटर नोएडा से दिल्ली आ रहे किसान यमुना एक्सप्रेसवे पर हिरासत में लिएइसी बीच खबर है कि ग्रेटर नोएडा से दिल्ली आ रहे किसानों को पुलिस ने यमुना एक्सप्रेसवे पर हिरासत में ले लिया। किसान पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड को तोड़कर दिल्ली की तरफ बढ़ने का प्रयास कर रहे थे।वहीं, मुंडाका सीमा पर यूथ कांग्रेस के चार दर्जन कार्यकर्ता दिल्ली किसान आंदोलन में शामिल होने जा रहे थे कि सूचना मिलते ही दलबल के साथ पुलिस और एसडीएम मुण्डाका सीमा पर पहुंच गए। जब उनको हरियाणा सीमा में प्रवेश की अनुमति नहीं दी तो कांग्रेस कार्यकर्ता अलवर-गुड़गांव मार्ग पर बैठ कर विरोध प्रदर्शन करने लगे। सड़क पर दोनों ओर जाम लग गया, पुलिस के समझाने पर आधे घंटे बाद सड़क से हट गए। अब सुचारू रूप से सड़क चल रही है लेकिन पुलिस व कांग्रेस कार्यकर्ता सीमा पर ही डटे हुए हैं।

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन: #Himachal में भड़की कृषि बिल के विरोध की ज्वाला, प्रदर्शन के साथ नारेबाजी

बता दें कि इससे पहले किसानों के मुद्दे पर आज सुबह गृह मंत्री अमित शाह पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंचे थे। किसान संगठनों के साथ पांचवें की दौर की बैठक से पहले ये बड़ी मीटिंग हुई। इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद रहे। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल भी मीटिंग में शामिल होने पहुंचे। इसके बाद पीएम मोदी और अमित शाह की फिर बैठक हुई।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है